REWA LOCKDOWN : सब्जियों के कीमतों को लेकर व्यापारियों को फटकार ,मुनाफाखोरी पर होगी कार्रवाई


रीवा. देश में लॉक डाउन की स्थित और सीमित स्टॉक को देखते हुए थोक सब्जी व्यापारियों ने कीमतें बढ़ा दी। व्यापारियों की मुनाफाखोरी के कारण आलू की कीमतें थोक में ४० रुपए पहुंच गयी। वहीं प्याज व टमाटर की कीमतें पर्याप्त स्टॉक होने के बावजूद बढ़ा दी। इसे लेकर गुरुवार को कंट्रोल रूम में सब्जी व्यापारियों की बैठक लेकर एसडीएम व एएसपी ने फटकार लगाई है। साथ ही सब्जी आलू, प्याज व टमाटर की कीमतों की निगरानी के लिए समिति बना दी। यह समिति प्रतिदिन कीमतों की मॉनीटरिंग करेगी।

दाम नियंत्रित करने बनी समिति
बताया जा रहा है पिछले चार दिनों से लॉक डाउन को देखते हुए व्यापारी बाहर से आलू व प्याज कम मांगा रहे हैं। ऐसे में जिन व्यापारियों के पास स्टॉक था वह जमाखोरी करते हुए बुधवार को मनमानी कीमतों में फुटकर व्यापारियों को उपलब्ध कराए। ऐसे में जिले में आलू व प्याज की कीमतें ४० से ५० रुपए तक पहुंच गई। इन कीमतों को देख आम लोगों की मुश्किलें बढ़ गई। वहीं प्रशासन ने मुनाफाखोरी रोकने व्यापारियों की बैठक बुलाई है। इसमें निर्देश दिया कि वह नियमित खपत के अनुसार आलू व प्याज और टमाटर बाहर से उपलब्ध कराएंगे। वहीं फुटकर व्यापारी मंडी में दुकान न लगाकर ठेला में फेरी करते हुए बेचेंगे, जिससे लोगों को आसानी से सब्जी उपलब्ध हो सके। 

फल और सब्जियों की प्रशासन कराएगा होम डिलीवरी 
प्रशासन द्वारा फल एवं सब्जियों की होम डिलीवरी कराई जाएगी। हर एरिया के लिए अलग अलग डिलेवरी ब्वॉय नियुक्त किए गए हैं जो फोन करने पर सामान घर पहुंचाएंगे। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार वर्मा ने कहा कि लॉक डाउन के बीच शहर में सब्जी-फल सहित अन्य अत्यावश्यक चीजों की कमी नहीं होनी चाहिए और न ही इसकी जमाखोरी हो। शहर के विभिन्न क्षेत्रों में व्यापारी तय किए गए हैं, जिन्हें फोन लगाकर सब्जी व फल घर पर ही मंगाई जा सकेगी।

मंडी से हटवाई दुकानें
सुबह 10 बजे से बाद मंडी में खुली दुकानों को पुलिस व प्रशासन की टीम ने पहुंच कर बंद कर दिया है। इस दौरान उन व्यापारियों को फटकार लगाई है जिन्होंने दुकानों के सामने सब्जी लगवाकर विक्रय करवा रहे थे। मंडी में लोगों की भीड़ को रोकने के लिए प्रशासन ठेला के माध्यम से सब्जी बेचने का आदेश दिया है।

मंडी सचिव करेंगे निगरानी
बैठक में सब्जी की कीमतों को निगरानी के लिए कृषि ऊपज मंडी के सचिव को जबावदारी सौंपी गई। वह प्रतिदिन आलू, प्याज व टमाटर की कीमतों की मानीटरिंग करेंगे व कीमत प्रदर्शित करेंगे। साथ ही बाहर से आने वाले सब्जियों की गाडिय़ों के आने में व्यापारियों को दिक्कत को पुलिस से मिलकर समस्या दूर करेंगे। जिससे की सप्लाई बाधित नहीं हो।

Powered by Blogger.