BHOPAL : शिवराज सरकार ने दी मजदूरों को बड़ी राहत,खातों में 4 करोड़ 45 लाख 58 हजार रूपये ट्रांसफर



BHOPAL : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा विगत 15 अप्रैल को प्रदेश के ऐसे मजदूर जो अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं, की तात्कालिक आवश्यकताओं जैसे भोजन, दवाई आदि के लिए एक हजार रूपए हस्तांतरित करने की घोषणा की गई थी। इस घोषणा के फलस्वरूप मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा विगत दिवस 10 करोड़ रूपये की राशि प्रदेश के मजदूरों के खाते में हस्तांतरित की गई। इस संबंध में रीवा एवं शहडोल संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने बताया कि उक्त राशि में से अकेले रीवा संभाग में 4 करोड़ 7 लाख 58 हजार रूपये की राशि मजदूरों के खाते में हस्तांतरित की गई है। उन्होंने बताया कि इसी तरह शहडोल संभाग में 38 लाख 77 हजार रूपये की राशि मजदूरों के खाते में हस्तांतरित कर दी गई है।  


कमिश्नर डॉ. भार्गव ने बताया कि संभाग के जिला कलेक्टरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार रीवा संभाग के सतना जिले में 17 हजार 937, रीवा जिले में 12 हजार 407, सीधी जिले में 4 हजार 433 एवं सिंगरौली जिले के 5 हजार 981 व्यक्तियों को एक-एक हजार रूपए के मान से राशि उनके खाते में हस्तांतरित की गई है। इसी तरह शहडोल संभाग के शहडोल जिले में 2 हजार 469, उमरिया के 661 एवं अनूपपुर के 747 हितग्राहियों को एक-एक हजार रूपये की राशि हस्तांतरित की गई है।


उल्लेखनीय है कि कमिश्नर डॉ. भार्गव ने दोंनों संभागों के सभी जिला कलेक्टरों को निर्देश दिये थे कि प्रदेश के ऐसे मजदूर जो लॉकडाउन के कारण अन्य प्रदेशों में फंसे हुए हैं उन्हें प्रवासी मजदूर सहायता योजना का लाभ दिलायें। उनकी जानकारी विभिन्न स्रोतों से एकत्रित करने, एकत्रित जानकारी राहत आयुक्त को उपलब्ध कराने के भी निर्देश कमिश्नर डॉ. भार्गव द्वारा दिए गए थे। इसे ध्यान में रखते हुए फंसे हुए मजदूरों की तात्कालिक सहायता के लिए उनके खाते में एक-एक हजार रूपये की राशि अंतरित की गई है। कमिश्नर डॉ. भार्गव द्वारा इस कार्य की सतत समीक्षा एवं मॉनीटरिंग की गई जिसके परिणाम स्वरूप प्रवासी मजदूरों को यह वित्तीय सहायता उपलब्ध करायी जा सकी। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा है कि वितरित की गई राशि के संबंध में हितग्राही का संपूर्ण विवरण, बैंक एकाउण्ट नम्बर, वितरण दिनांक आदि समस्त जानकारी का संधारण जिला स्तर पर अनिवार्य रूप से करें। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने निर्देश दिए हैं कि मैप आईटी से प्रवासी मजदूरों का सत्यापन कर पात्र हितग्राहियों को ही राशि हस्तांतरित करायी जाये। उन्होंने सभी कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं कि कोई भी पात्र हितग्राही इस राशि से वंचित न होने पाये।


Powered by Blogger.