MP : इंदौरियों के लिए राहत भरी खबर आ सकती है कोरोना की दूसरी लहर, सावधानी आवश्यक

इंदौर। कोरोना संकट से परेशान इंदौरियों के लिए राहत भरी खबर है कि कोरोना की दूसरी लहर आई भी तो वह पहले जितनी घातक नहीं होगी। दूसरी लहर में संक्रमितों की संख्या भले ही ज्यादा रहे, लेकिन गंभीर मरीजों की संख्या पहले के मुकाबले कम रहेगी। इतना ही नहीं, कोरोना की वजह से होने वाली मौतों में भी कमी आने की संभावना है।

स्थानीय चिकित्सा विशेषज्ञों का मानना है कि समय के साथ कोविड-19 खुद कमजोर हो रहा है। लोगों की कोविड-10 के प्रति रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ रही है। परंतु कुछ विशेषज्ञ यह भी मानते हैं कि फ्रांस, इटली जैसे देशों में दूसरी लहर में मौतों की संख्या ज्यादा रही है। इसलिए लापरवाही घातक हो सकती है। ठंड का मौसम भी सामने है, ऐसे में यदि स्वाइन फ्लू और कोरोना का एक साथ हमला हुआ तो स्थिति खतरनाक भी हो सकती है।

पहले से कम होगी तीव्रता

कोरोना की दूसरी लहर आई भी तो उसकी तीव्रता पहले से कम रहेगी। कारण है कि समय के साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता अपने आप ही विकसित हो जाती है। फिर भी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हमारी तैयारी पूरी है।

-डॉ. संजय दीक्षित, डीन एमजीएम मेडिकल कॉलेज इंदौर

सुरक्षा बरतनी होगी

पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर की तीव्रता कम होने की संभावना तो है लेकिन सावधानी बहुत जरूरी है। फ्रांस, इटली में आई दूसरी लहर में मौतों की संख्या पहले के मुकाबले ज्यादा रही है। ठंड का मौसम भी सामने है। ऐसे में सावधानी जरूरी है।

-डॉ. रवि डोसी, छाती रोग विशेषज्ञ अरबिंदो मेडिकल कॉलेज

स्वाइन फ्लू का हमले की आशंका

उम्मीद की जा रही है कि दूसरी लहर पहली जितनी गंभीर नहीं होगी। कोरोना को लेकर इस वक्त कुछ भी कहना बहुत मुश्किल है। ठंड के मौसम में स्वाइन फ्लू का हमला होता है। अगर स्वाइन फ्लू और कोरोना मिलकर हमला करेंगे तो बहुत मुश्किल हो जाएगी। हमें कम से कम जनवरी तक सावधानी बरतनी होगी।

-डॉ. सलिल भार्गव, विभागाध्यक्ष श्वसन तंत्र, एमजीएम मेडिकल कॉलेज

जरूरी है सावधानी

-रोज मिलने वाले कोरोना के मरीजों की संख्या भले ही कम हो गई लेकिन इसका खतरा अभी कम नहीं हुआ है।

-सावधानी बरतना जरूरी है। घर से बाहर अनिवार्य रूप से मास्क पहनें। थोड़ी-थोड़ी देर में हाथ साबुन से धोते रहें।

-भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचें।

-बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें।

-शारीरिक दूरी के नियम का अनिवार्य रूप से पालन करें

Powered by Blogger.