MP के रीवा समेत इन सरकारी नर्सिंग कॉलेजों में 730 सीटें बढ़ीं, अस्पतालों को मिलेंगी अनुभवी नर्स

भोपाल। प्रदेश के छह सरकारी नर्सिंग कॉलेजों में नर्सिंग की 730 सीटें बढ़ा दी गई हैं। इनमें 440 सीटें बीएससी नर्सिंग, 20 पोस्ट बेसिक बीएसएसी नर्सिंग और 270 सीटें एमएससी नर्सिंग की हैं। नर्सिंग कॉलेजों में नवीन पाठ्यक्रम भी लागू किया जाएगा। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए सीटें बढ़ाने व नवीन पाठ्यक्रम को लागू करने की मंजूरी दी है।

सरकारी कॉलेजों में नर्सिंग की नियमित कक्षाएं लगती हैं। निजी कॉलेजों की तुलना में अच्छी पढ़ाई होती है। आमतौर पर सरकारी अस्पतालों की भर्ती में उन नर्सों को पहली प्राथमिकता दी जाती है, जिन्होंने सरकारी कॉलेजों से पढ़ाई की है।

इन कॉलेजों में बढ़ाईं सीटें

शासकीय स्कूल ऑफ नर्सिंग हमीदिया अस्पताल में बीएससी नर्सिंग की सीटें 60 से बढ़कर 120 हो गई हैं। पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग की 60 और एमएससी नर्सिंग की 50 सीटें बढ़ा दी गई हैं।

शासकीय स्कूल ऑफ नर्सिंग जीएम अस्पताल रीवा में बीएससी नर्सिंग की 30 से बढ़ाकर 120 सीटें कर दी हैं। वहीं पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग की 60 व एमएससी नर्सिंग की 50 सीटें बढ़ा दी गई हैं।

शासकीय स्कूल ऑफ नर्सिंग मेडिकल कॉलेज जबलपुर में बीएससी नर्सिंग की 60 से बढ़ाकर 120 सीटें कर दी हैं। वहीं पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग की 60 व एमएससी नर्सिंग की 50 सीटें बढ़ाई हैं।

शासकीय नर्सिंग कॉलेज इंदौर में बीएससी नर्सिंग की 100 से बढ़ाकर 210 सीटें कर दी हैं। वहीं पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग की 40 से बढ़ाकर 60 और एमएससी नर्सिंग की 50 से बढ़ाकर 100 सीटें कर दी हैं।

शासकीय स्कूल ऑफ नर्सिंग बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज सागर में बीएससी नर्सिंग की 60 से बढ़ाकर 120 सीटें कर दी हैं। वहीं एमएससी नर्सिंग की 20 सीटें बढ़ा दी हैं।

शासकीय स्कूल ऑफ नर्सिंग जेए अस्पताल ग्वालियर में बीएससी नर्सिंग की 60 से बढ़ाकर 120 सीटें कर दी हैं। वहीं पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग की 60 सीटें, एमएससी नर्सिंग की 50 सीटें बढ़ाई गई हैं।

Powered by Blogger.