MP : 40 मिनट की बैठक : उपचुनाव से पहले विरोधी दल के नेताओं के साथ बैठक या मुलाकात से सियासी हलचल तेज, क्या बीजेपी में शामिल हो रहे अजय सिंह ?

मध्य प्रदेश में उपचुनाव से पहले विरोधी दल के नेताओं के साथ बैठक या मुलाकात से सियासी हलचल तेज हो जाती है। ऐसा ही घटनाक्रम सोमवार को भोपाल में हुआ। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय सिंह, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात करने उनके निवास पर पहुंचे। यह खबर जैसे ही राजनीतिक गलियारे में आई तो हलचल तेज हो गई। कयास लगाए जाने लगे कि क्या अजय सिंह बीजेपी में शामिल हो रहे हैं?

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस नेता अजय सिंह ने गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से फोन पर मिलने का समय लिया था। वे शाम को उनसे मिलने चार इमली स्थित आवास पर पहुंचे थे। दोनों नेताओं की करीब 40 मिनट बंद कमरे में बातचीत हुई। इसके बाद दोनों ने मीडिया के सामने कोई बयान नहीं दिया। इस बारे में गृह मंत्री से पूछा तो उन्होंने कहा कि अजय सिंह सौजन्य भेंट करने आए थे।

इसलिए लगाए ज रहे कयास

दरअसल, अजय सिंह सार्वजनिक रूप से अपनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ की कार्यप्रणाली को लेकर बयानाबाजी कर चुके हैं। उन्होंने कहा था- अपनी अक्षमता का ठीकरा विंध्य पर न फोड़ा जाए। इस तरह के बयान से विंध्य का अपमान होता है। पार्टी के पुराने कार्यकर्ता और जनप्रतिनिधि इससे निराश हो जाते हैं। 2020 में सरकार गिरने का कारण विंध्य नहीं, बल्कि कमलनाथ खुद थे।

गोविंद सिंह व घनघोरिया से मुलाकात पर लगाई गई थी अटकलें

गृह मंत्री से 21 जुलाई 2021 को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री डॉ गोविंद सिंह की गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के निवास पर मुलाकात हुई थी। दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक बंद कमरे में चर्चा हुई। खासबात यह है कि इसी दिन पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक लखन घनघोरिया भी नरोत्तम मिश्रा से मिलने उनके निवास पर गए थे।

इसलिए निकाले जा रहे सियासी मायने

दरअसल गोविंद सिंह और घनघोरिया से मुलाकात के बाद गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सोशल मीडिया पर बैठक की फोटो शेयर की थीं, लेकिन अजय सिंह के साथ हुई बैठक का फोटो जारी नहीं किया गया है। इसलिए राजनीतिक जानकार इस मुलाकात के सियासी मयाने निकाल रहे हैं। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या अजय सिंह बीजेपी में शामिल हो सकते हैं?

Powered by Blogger.