REWA : सीधी से बहन को छोड़ने आया था रीवा : फिर अकेले ही दिया लूट की वारदात को अंजाम, गिरफ्तार कर अन्य घटनाओं में पूछताछ जारी

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा। एक दिन पूर्व पुलिस द्वारा पकड़े गए शातिर बदमाश ने पूछताछ में अहम जानकारियां पुलिस को दी है। उससे पुलिस शहर के भीतर हुई अन्य घटनाओं के संबंध में भी पूछताछ की है।

एक दिन पूर्व दिया था घटना को अंजाम

अमहिया पुलिस ने एक दिन पूर्व महिला के गले से चेन खींचकर फरार हुए शातिर बदमाश नीलेश तिवारी उर्फ सोनू पिता संकठा प्रसाद 29 वर्ष निवासी धनखोरी थाना जमोड़ी जिला सीधी को गिरफ्तार किया था। उक्त आरोपी सोमवार को अपनी बहन को छोडऩे के लिए सीधी से रीवा आया था जो रेवांचल एक्सप्रेस से भोपाल जा रही थी। बहन को रेलवे स्टेशन के पहले उतारकर वापस आ गया और वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूमने लगा। आरोपी के मुताबिक सीधी में वह अपने दो-तीन अन्य साथियों के साथ वारदात करता था जिससे हिस्सा बंट जाता था। फलस्वरूप इस बार उसने अकेले घटना को अंजाम देने की योजना बनाई। वह लगभग अपने मंसूबों में कामयाब भी हो गया था लेकिन तत्काल चेकिंग वाहन चेकिंग लगा दी जिससे वह शहर से बाहर नहीं निकल पाया।

समान व विवि पुलिस ने भी की पूछताछ

उक्त आरोपी से पूछताछ करने के लिए मंगलवार को समान व विवि पुलिस भी थाने आई थी जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्र में हुई घटनाओं के संबंध में जानकारी ली। उसने अपने दो अन्य साथियों के नाम पुलिस को बताए है जो उसके साथ सीधी में घटनाओं को अंजाम देते है। इन सभी बदमाशों का पुलिस पता लगा रही है। शहर में हुई चेन स्नेचिंग की अन्य घटनाओं में पुलिस साइबर की मदद से उनकी भूमिका की जांच करेगी। पकड़े गए आरोपी के खिलाफ सीधी में 11 मामले दर्ज है जिसमें अकेले लूट के 10 मामले है।

पुलिस टीम को एसपी ने की पांच हजार के इनाम की घोषणा

उक्त शातिर बदमाश को एक घंटे के भीतर पकडऩे वाली पुलिस टीम को एसपी नवनीत भसीन ने पांच हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। पुलिस टीम में थाना प्रभारी शिवा अग्रवाल, एएसआई राजेश तिवारी, प्रधान आरक्षक रामकृष्ण तिवारी, आरक्षक विक्रम वर्मा, आरक्षक पियूष मिश्रा, आरक्षक मकरध्वज तिवारी शामिल है जिनको पुरस्कृत किया जायेगा।

Powered by Blogger.