REWA : पिट की दीवार तोड़कर खाली वैक्सीन की फोटो वायरल करने का मामला : CMHO ने 8 चिकित्सकों सहित 4 स्वास्थ्य कर्मचारियों को थमाया नोटिस

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा के मऊगंज सिविल अस्पताल में पिट की दीवार तोड़कर खाली वैक्सीन की फोटो वायरल करने के मामले में स्वास्थ्य विभाग ने संज्ञान लिया है। प्रथम दृष्टया जांच में बायो मेडिकल वेस्ट के उल्लंघन मिला है। ऐसे में सीएमएचओ ने 8 चिकित्सकों सहित 4 स्वास्थ्य कर्मचारियों को नोटिस थमाया है।

साथ ही, एक कोविड चिकित्सक की सेवा समाप्त कर दी गई है। वहीं, दूसरी तरफ एक दिन पहले मऊगंज बीएमओ डॉ. एमडब्ल्यू मंसूरी ने अज्ञात शरारती तत्वों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए शिकायत की है।

ये है पूरा मामला

सीएमएचओ डॉ. बीएल मिश्रा ने बताया कि 23 नवंबर को अज्ञात शरारती तत्वों ने पिट की दीवार तोड़कर वैक्सीन की खाली वॉयल की फोटो सोशल मीडिया में वायरल किए थे। इसके बाद 24 नवंबर को सुबह डॉ. बीके अग्निहोत्री जिला टीकाकरण अधिकारी व राघवेन्द्र मिश्रा डीसीएम को जांच के लिए भेजा गया था। साथ ही, इसी दिन शाम को डिप्टी डायरेक्टर डॉ. एनपी पाठक और वे खुद अस्पताल का निरीक्षण करने गए थे। इसकी रिपोर्ट कलेक्टर और डिप्टी डायरेक्टर स्वास्थ्य सेवाएं को सौंप ​दी है।

स्वास्थ्य विभाग को बदनाम करने की साजिश

जांच अधिकारियों ने बताया कि अज्ञात लोगों ने पिट की दीवार तोड़कर फोटो खींची थी। वे लोग स्वास्थ्य विभाग को बदनाम करने की साजिश किए थे। घटनास्थल की जांच में 5 हजार कोविशील्ड व 450 कोवैक्सीन की खाली वॉयल मिली है। मौके से सील बंद एक भी वॉयल नहीं मिला है। साथ ही, ईविन पोर्टल, टीकाकरण रजिस्टर व मौके पर कोविशील्ड के 2270 डोज व कोवैक्सीन के 400 डोज (10 डोज बॉयल 180 व 20 डोज वॉयल 220) पाई गई। स्टॉक पर कोई भी विसंगति नहीं पाई गई है।

बायो मेडिकल वेस्ट नियम का हो रहा था उल्लंघन

स्वास्थ्य अधिका​रियों ने बताया कि जांच में यह बात जरूर सामने आई है कि बायो मेडिकल वेस्ट के नियम का उल्लंघन हो रहा था। टीकाकरण सत्र समाप्ति के पश्चात संस्था में उत्पन्न बायो मेडिकल वेस्ट का निष्पादन उचित प्रकार से नहीं किया गया, ​जबकि हर तीसरे दिन बायो मेडिकल वेस्ट की गाड़ी मऊगंज अस्पताल आती थी, लेकिन किसी जिम्मेदार ने रूचि नहीं दिखाई, बल्कि पुराने गड्ढा का उपयोग किया जा रहा था। किसी शरारती तत्वों ने पिट की दीवार तोड़कर फोटो खींच कर वायरल कर दी।

नर्स निलंबित व एक चिकित्सक की सेवा समाप्त

बायो मेडिकल वेस्ट के उल्लंघन पर बीएमओ डॉ. एमडब्ल्यू मंसूरी और पूर्व बीएमओ डॉ. पंकज सिंह गहरवार एक दिन के वेतन काटने का नोटिस दिया है। वहीं कोल्डचैन हैंडलर सरोजवती द्विवेदी नर्स को निलंबन का प्रस्ताव भेजा है। साथ ही, प्रकाश साहू बीपीएम, संजीव मिश्रा बीपीएम, समीर खान बीईई को एक दिन के वेतन काटने का नोटिस दिया है। टीकारकण में सहयोग नहीं करने व मुख्यालय से गायब रहते पर कोविड चिकित्सक डॉ. आरपी सेन की सेवा समाप्त कर दी गई है।

इन चि​कित्सकों को दिया नोटिस

सीएमएचओ की मानें बीएमओ डॉ. एमडब्ल्यू मंसूरी और पूर्व बीएमओ डॉ. पंकज सिंह गहरवार सहित डॉ. पंकज पाण्डेय चिकित्सा अधिकारी सिविल अस्पताल मऊगंज, डॉ. एसडी कोल चिकित्सा अधिकारी सिविल अस्पताल मऊगंज, डॉ. वैद्यनाथ सतनामी चिकित्सा अधिकारी सिविल अस्पताल मऊगंज, डॉ. श्रवणराज पटेल चिकित्सा अधिकारी सिविल अस्पताल मऊगंज, डॉ. बीके गर्ग चिकित्सा अधिकारी सिविल अस्पताल मऊगंज और मो. समीर खान खण्ड विस्तार प्रशिक्षक सिविल अस्पताल मऊगंज शामिल है।

मऊगंज थाने में शिकायत दर्ज

दो दिन पहले बीएमओ डॉ. एमडब्ल्यू मंसूरी को फोन कर पिट की दीवार तोड़कर वैक्सीन की खाली वॉयल के बिखेरने की सूचना मिली थी। ऐसे में बीएमओ ने तत्काल पुलिस को अवगत कराया था। सूचना के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची थी। शाम तक मऊगंज बीएमओ ने ​लिखित शिकायत की थी। सूत्रों का दावा है कि अस्पताल के दूसरे गुट ने वर्तमान अधिकारियों को प्रभावित करने साजिश फैलाई थी, लेकिन उनकी उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आ रहा है।

Powered by Blogger.