REWA : यूनियन बैंक शाखा से फर्जी दस्तावेज तैयार कर महिला के खाते से निकाले 31500 रुपए ; FIR दर्ज : दोनों आरोपी गिरफ्तार

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा शहर के विश्वविद्यालय थाना अंतर्गत यूनियन बैंक शाखा से फर्जी दस्तावेज तैयार कर धोखाधड़ी करने वाले दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का दावा है कि पीड़ित महिला का खाता यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की शिल्पी प्लाजा शाखा में था। लेकिन शातिर जालसाजों ने विश्वविद्यालय थाना अंतर्गत स्थित दूसरी ब्रांच में खाता ट्रांसफर करा लिया।

जहां पर फर्जी आधार कार्ड, पेन कार्ड आदि लगाकर एटीएम कार्ड जारी कराया। इसके बाद 31500 रुपए की रकम निकाल ली थी। पुलिस ने बताया कि पीड़ित खाताधारक और आरोपी महिला का एक ही नाम होने का फायदा उठाया गया था। धोखाधड़ी की कहानी खुलने के बाद विश्वविद्यालय पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

थाना प्रभारी जेपी पटेल की मानें तो विश्वविद्यालय थाना अंतर्गत स्थित यूनियन बैंक ऑफ इंडिया शाखा के प्रबंधक विनीत कुमार ठाकुर ने 28 दिसंबर को एक धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उन्होंने बताया कि हमारे बैंक की ग्राहक गुढ़ चौराहा के समींप रहने वाली ऊषा उर्फ पुन्नू के खाते से 31 हजार 500 रुपए निकल चुके है।

ऐसे में पुलिस ने धारा 420, 467, 468, 471, 120- बी का अपराध दर्ज कर विवेचना शुरू की। पीड़ित महिला के बयान और खाते में लगे दस्ताबेजों की जांच में आरोपी किरण बसोर और लक्ष्मीनारायण मांडव की भूमिका समझ में आई। ऐसे में दोनों निवासी गुढ़ चौराहा को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो आरोपियों ने जुर्म कबूल​ किया।

Powered by Blogger.