20 दिन में दो शादियों से लाखों रुपए ठगने के बाद रफूचक्कर हुई युवती | CRIME NEWS


मोहन्द्रा। यूं तो यह कहानी फिल्मी लगती है लेकिन सच है। हासिल जानकारी के मुताबिक अमानगंज थाना का एक फ्रॉड रामनारायण सिंह राजपूत अपने एक अन्य एजेंट मोहन्द्रा पुलिस चौकी अंतर्गत पिपरहा गांव के रामवीर पिता जगदीश मुन्ना  दुवे की मध्यस्थता से मोहन्द्रा निवासी प्रदीप पिता सुदर्शन गुप्ता की शादी 02 फरवरी 2020 को एक लाख तीस हजार रुपए में तय कराता है।
03 फरवरी को मोहन्द्रा के सिद्ध स्थल दान दाई में धूमधाम से शादी संपन्न होती है। शादी के पंद्रह दिन बाद अपनी एक बहन के साथ युवती मायके श्राद्ध के बहाने जाती है और एक सप्ताह बाद 23 फरवरी को नारायण सिंह एक लाख रुपए लेकर इसी युवती की शादी कलेही मंदिर पवई से अमानगंज थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम महेबा निवासी राकेश पिता द्वारका प्रसाद पटेरिया से करा देता है।
शादी के नाम पर ठगी कर रहे इस गिरोह का खुलासा तब होता है जब मोहन्द्रा वाले पति का अपनी पत्नि से सम्पर्क नहीं होता और जानकारी जुटाने पर उसका आधारकार्ड फर्जी निकलता है। महेवा पुलिस की लापरवाही व गैरजिम्मेदार रवैये के चलते गैंग का खुलासा नहीं हुआ। इस पूरे मामले में महेबा पुलिस की बड़ी लापरवाही और अपराधियों को पकड़ने की गैर संबेदनशीलता भी सामने आई है। जानकारी के मुताबिक मोहन्द्रा वाले पति ने अपने रिश्तेदार के माध्यम से महेवा पुलिस चौकी प्रभारी को इस पूरे घटनाक्रम की पुख्ता जानकारी दी थी पर पुलिस ने सहयोग नहीं किया जिसका नतीजा ये हुआ ठग दुल्हन रात को भाग गई जिसकी तलाश की जा  रही है।
मोहन्द्रा पुलिस दोनों एजेंटों से कर रही पूंछताछ 
सूचना मिलने के कुछ देर बाद पुलिस चौकी मोहन्द्रा ने पिपरहा के रामवीर तिवारी व इसी के सहारे दूसरे दिन रामनारायण सिंह को भी पकड़ लिया है। पुलिस दोनों आरोपियों से गहन पूंछतांछ कर रही है। सूत्रों के मुताबिक ठग दुल्हन द्वारा जिले के अजयगढ़, गुनौर, महेवा और मोहन्द्रा में चार शादियां रचाकर लाखों रुपए ऐंठने की बात सामने आ रही है, वही टीकमगढ़ में 
Powered by Blogger.