खाली हुआ एक और शाहीन बाग, समाजवादी पार्टी के पार्षद समेत 3 पर FIR दर्ज


प्रयागराज: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर उत्तर प्रदेश में प्रयागराज के रोशन बाग में चल रहे धरने में शामिल समाजवादी पार्टी के पार्षद समेत 3 प्रदर्शनकारियों को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इन तीनों के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत एफ आई आर दर्ज की गई है. इसके अलावा  इन तीनों पर धारा 144 के उल्लंघन का आरोप है, साथ ही कोरोना वायरस (Coronavirus) जैसे संक्रमण को देखते हुए पीएम मोदी के जनता कर्फ्यू के आह्वान के बावजूद भी इन्होंने हजारों लोगों के जान को जोखिम में डालकर प्रदर्शन किया था.

बता दें कि प्रयागराज के रोशन बाग में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पिछले 73 दिनों तक लगातार धरना प्रदर्शन जारी था. इस दौरान प्रयागराज का प्रशासन कई बार  प्रदर्शनकारियों को समझाकर धरने को खत्म कराने की कोशिश कर चुका था लेकिन प्रदर्शनकारियों ने पीएम के जनता कर्फ्यू को भी धता बताते हुए प्रदर्शन जारी रखा. जिसके बाद भी जिला प्रशासन द्वारा धरना खत्म करवाने की कोशिशें लगातार जारी रहीं.

आखिर में प्रदर्शनकारी यूपी में लॉकडाउन के पहले दिन देर शाम धरना खत्म करने को तैयार हो गए. जिस पर उन्होंने अपनी कई मांगे रखी  कि प्रदर्शन के दौरान जो एफआईआर प्रदर्शनकारियों पर दर्ज हुईं उन्हें वापस लिया जाए.

प्रदर्शनकारियों की ऐसी मांग पर एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव ने ज़ी मीडिया से बात की. उन्होंने कहा, "कई बार धरना प्रदर्शन कर रहे लोगों को समझाने की कोशिश की गई फिर आखिर में इन लोगों ने धरना स्थगित कर दिया है."

बता दें कि प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों पर दर्ज हुईं एफआईआर पर कुछ लोग ऐसी अफवाह भी फैला रहे हैं कि जिन लोगों पर पहले एफआईआर की गई थीं वो वापस ली जा रही हैं.

एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव ने इस बात का खंडन करते हुए कहा कि पहले जो भी कार्रवाई की गई है वह वापस नहीं ली जाएगी. धरना स्थल पर जो लोग भी मौजूद रहे जिनके खिलाफ भी एफ आई आर दर्ज की गई है. उन सबकी गिरफ्तारी होगी और उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इसके अलावा कोरोना वायरस संक्रमण के चलते खाली हुए मनसूर अली पार्क को सैनिटाइज कराया जाएगा और वहां पर किसी भी तरीके का अतिक्रमण ना हो इसको लेकर निर्देश जारी किए जा रहें हैं.
Powered by Blogger.