BHOPAL : MP मे फिर भाजपा फिर शिवराज, कमलनाथ सरकार के अरमानो मे फिरा पानी


मध्य प्रदेश में तेजी से बदलते घटनाक्रम के बीच मुख्यमंत्री कमल नाथ ने भोपाल में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस्तीफे का ऐलान कर दिया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं और भाजपा को कोसा। उन्होंने कहा, 11 दिसंबर 2018 के विधानसभा चुनाव के परिणाम के बाद सरकार बनी। 15 महीनों में सरकार का प्रयास रहा कि राज्य को नई दिशा देने का प्रयास किया जाए। कांग्रस सबसे ज्यादा सीट हासिल करते मध्यप्रदेश की सत्ता में आई थी। सरकार बनाने के बाद से मेरा प्रयास रहा कि प्रदेश का विकास हो। मुझे जनता ने पांच साल के लिए सरकार चलाने का आदेश दिया था। भाजपा ने शुरू से हमारी सरकार गिराने की कोशिश की। हर 15वें दिन कहा गया है कि कमल नाथ की सरकार गिरने जा रही है। भाजपा ने गैर लोकतांत्रिक तरीके से 22 विधायकों को बेंगलुरू में बंधक बना रखा। मेरी सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की गई। जनता पूछ रही है कि मेरा क्या कसूर है?

कमल नाथ ने कहा, मध्य प्रदेश की तुलना छोटे राज्यों से की जाती थी। भाजपा ने 15 साल कोई काम नहीं किया, लेकिन हमारे 15 महीनों का हिसाब मांगा। हमारा वचन पत्र 5 साल का है और 15 महीनों में हमने खूब काम किया। भाजपा के 15 साल के शासन में बेरोजगारी बढ़ी थी।
बकौल कमल नाथ, भाजपा ने प्रलोभन का खेल खेला। मेरे विधायकों को तोड़ने के लिए करोड़ों रुपये खर्च किये। हमने विधानसभा में पहले भी बहुमत साबित किया। मेरे सरकार को अस्थिर करने का षड्यंत्र किया गया। यह विश्वासघात राज्य की साढ़े सात करोड़ जनता के साथ है। 
आज का दिन कांग्रेस के लिये काफी दुखद व दुर्भाग्यपूर्ण है क्योकि जिस बहुमत के साथ जनता ने सरकार बनाई उसका खामियाजा आज ऐसे देखने को मिलेगा कोई सोच भी नही सकता था, कि चंद समय के लिये यह सरकार बनेगी, खैर ये राजनीति है कहते है सब जायज है, लेकिन लोकतंत्र का क्या हुआ, उसके बारे मे कौन सोचेगा••?  फ्लोर टेस्ट मे फेल हो गई सरकार
मध्यप्रदेश के सीएम रहे कमलनाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन को सौपा अपना इस्तीफा,

ज्योतिरादित्य सिंधिया का बयान
मध्यप्रदेश में आज जनता की जीत हुई है, मेरा सदैव ये मानना रहा है कि राजनीति जन सेवा का माध्यम होना चाहिए, लेकिन प्रदेश की काँग्रेस सरकार इस रास्ते से भटक गई थी, सच्चाई की फिर विजय हुई है, सत्यमेवजयते,

आपको बता दें कि महराज सिंधिया का कांग्रेस से निकल जाने के बाद से ही प्रदेश सरकार का पतन शुरु हो गया और प्रदेश मे 2 हप्ते से चल रही सियासी उठा पटक का खेल आज फ्लोर टेस्ट मे भाजपा के पास होने व सरकार बनने विराम लग गया है।
Powered by Blogger.