CORONAVIRUS की दहशत के चलते देश में 75 से अधिक शहर Locked Down, जानिये क्‍या होता है यह


Locked Down : जानलेवा कोरेाना वायरस Coronavirus का देश में खतरा लगातार बढ़ रहा है। इसे लेकर सरकार बड़े कदम उठा रही है। आज केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को उन 75 जिलों को निर्देश जारी करने को कहा है जिनमें पॉजीटिव केस आए हैं। यहां आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। देश के 75 से अधिक शहरों को लॉक डाउन Locked Down कर दिया गया है। आइये जानते हैं यह क्‍या व्‍यवस्‍था होती है और इस दौरान सरकार और जनता को क्‍या करना होता है।
सबसे ज्यादा Locked Down केरल व महाराष्ट्र में
दिल्ली के सभी सातों जिले लॉकडाउन Locked Down वाली सूची में शामिल हैं। इसके अलावा हरियाणा के पांच जिले (फरीदाबाद, गुरुग्राम, सोनीपत, पंचकुला, पानीपत), Locked Down हैं। चंडीगढ़, पंजाब के होशियारपुर, एसएएस नगर, एसबीएस नगर Locked Down हैं। उत्तर प्रदेश के आगरा, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, वाराणसी, लखीमपुर खेरी व लखनऊ Locked Down हैं। उत्तराखंड का देहरादून, हिमाचल प्रदेश का कांगड़ा, जम्मू व कश्मीर का श्रीनगर व जम्मू, लद्दाख के दोनोंं शहर लेह व कारगिल Locked Down सूची में शामिल हैं। सबसे ज्यादा केरल व महाराष्ट्र के 10-10 जिले शामिल हैं।
इतने राज्‍यों में घोषित हुआ है Locked Down
राजस्थान, पंजाब, उत्‍तराखंड, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, जम्‍मू कश्‍मीर और बिहार ने भी लॉक डाउन की घोषणा की है। हालांकि इस दौरान जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी। Coronavirus कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र में कल से 31 मार्च तक धारा 144 लागू की गई है। यूपी में जनता कर्फ्यू को सुबह 6 बजे तक बढ़ा दिया गया है। यूपी के 15 जिलों में 23 से 25 मार्च तक Locked Down लॉकडाउन घोषित किया गया है, जिसमें नोएडा, गाजियाबाद, प्रयागराज, कानपुर, सहारनपुर, लखीमपुर, आजमगढ़, वाराणसी, लखनऊ, बरेली, मुरादाबाद बाराबंकी शामिल हैं।

क्या होता है लॉकडाउन?
लॉकडाउन Locked Down एक इमर्जेंसी व्यवस्था होती है। अगर किसी क्षेत्र में लॉकडाउन Locked Down घोषित कर दिया जाता है तो उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है। जीवन यापन के लिए आवश्यक चीजों के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति प्राप्‍त होती है। ऐसे में यदि किसी शख्‍स को दवा या अनाज की जरूरत है तो वह बाहर जा सकता है। उसे अस्पताल और बैंक के काम के लिए भी जाने की अनुमति मिल सकती है। इसके अलावा छोटे बच्चों और बुजुर्गों की देखभाल के काम से भी बाहर निकलने की अनुमति मिल सकती है।

क्यों करते हैं लॉकडाउन?
इंसान और किसी इलाके को किसी खतरे से बचाने के लिए प्रशासन द्वारा लॉकडाउन Locked Down किया जाता है। Coronavirus कोरोना के संक्रमण को लेकर कई देशों में Locked Down किया गया है। Coronavirus कोरोनावायरस का संक्रमण एक-दूसरे इंसान में न हो इसके लिए जरूरी है कि लोग घरों से बाहर कम निकले। बाहर निकलने की स्थिति में संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा। ऐसे में कुछ देशों में लॉकडाउन जैसी स्थिति हो गई है।

लॉकडाउन के दौरान राज्‍यों में अब यह होगा
Locked Down लॉकडाउन के दौरान कोई भी ट्रेन नहीं चलेगी। साथ ही मेट्रो का परिचालन भी सीमित होगा। इसमें दिल्ली मेट्रो, लखनऊ मेट्रो, नोएडा मेट्रो, कोलकाता मेट्रो, कोच्चि मेट्रो, बेंगलुरु मेट्रो बंद किया गया है। रेलवे ने 31 मार्च रात 12 बजे तक के लिए सभी ट्रेनें रद्द कर दी हैं। सिर्फ मालगाड़ी चलेगी। उप नगरीय ट्रेनों और कोलकाता मेट्रो रेल की न्यूनतम सेवाएं 22 मार्च रात 12 बजे तक जारी रहेंगी।

आज का भले ही रात 9 बजे खत्म हो जाएगा, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम सेलिब्रेशन शुरू कर दें। इसको सफलता न मानें। यह एक लम्बी लड़ाई की शुरुआत है। आज देशवासियों ने बता दिया कि हम सक्षम हैं, निर्णय कर लें तो बड़ी से बड़ी चुनौती को एक होकर हरा सकते हैं।
केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा जारी किए जा रहे निर्देशों का जरूर पालन करें। जिन जिलों और राज्यों में Lockdown की घोषणा हुई है, वहां घरों से बिल्कुल बाहर न निकलें। इसके अलावा बाकी हिस्सों में भी जब तक बहुत जरूरी न हो, तब तक घरों से बाहर न निकलें।
17.6 हज़ार लोग इस बारे में बात कर रहे हैं
Central government has asked state governments to issue directions to the 75 districts that have positive cases to stop all services except the emergency services: Lav Agarwal, Joint Secretary, Health Ministry.
Twitter पर छबि देखें
192 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

Powered by Blogger.