CORONAVIRUS TIPS : यहां जानिए कोरोना वायरस क्या है और कहां से हुई इसकी शुरुआत : पूरी दूनिया में है इसका कहर


चीन से उठा Coronavirus का खतरा आज पूरी दुनिया में फैल गया है। भारत में भी अब तक 100 से अधिक मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। दो मरीजों की मौत भी हो चुकी है। बड़ी खबर यह भी है कि भारत में अब तक 10 मरीजों का इलाज किया जा चुका है। Coronavirus को लेकर देश का एक बड़ा वर्ग अब भी ऐसा है, जिसे इस घातक संक्रामक बीमारी के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। बता दें, यदि सावधानी बरती जाए तो Coronavirus से बचा जा सकता है। इलाज और सावधानी के दम पर ही कुछ लोगों को Coronavirus के चंगूल से बाहर निकाला जा चुका है। पढ़िए Coronavirus से जुड़े आम सवालों के जवाब -
Coronavirus क्या है और कहां से हुई इसकी शुरुआत?
Coronavirus एक संक्रामक बीमारी है। यानी यह इंसान से इंसान में फैलने वाला वायरस है। पिछले साल चीन के वुहान शहर में इसका पहला मामला सामने आया था। यहां के एक मछली बाजार में कुछ लोगों को सर्दी जुकाम और बुखार के बाद जांच में वैज्ञानिकों को यह अज्ञात वायरस मिला था। बाद में इसे कोराना नाम दिया गया। जांच में पता चला कि चीन में लोग चमगादड़ भी खाते हैं और उसी से यह बीमारी इन्सानों में फैली।
Coronavirus के लक्षण क्या है?
Coronavirus के सामान्य लक्षण स्वाइन फ्लू की तरह ही है। शुरुआत सर्दी जुकाम से होती है। फिर बुखार बना रहता है। इन्सान कमजोर महसूस करता है। हालत बिगड़ने पर सांस लेने में तकलीफ होती है। यदि सर्दी जुकाम और बुखार सामान्य इलाज से ठीक नही हो और लंबे समय तक बने रहें, तो तत्काल डॉक्टर को दिखाना चाहिए। 
Coronavirus कैसे फैलता है?
Coronavirus अब इन्सान से इन्सान में फैलने लगा है। यानी मरीज के सम्पर्क में आने वाले हर शख्स को यह बीमारी हो सकती है। मरीज जैसे-जैसे बोलता है, उसकी सांस से वायरस निकलता है और दूसरे लोगों को अपना शिकार बना लेता है। 
Coronavirus से ऐसे बचें
  • अपने शरीर, घर, ऑफिस और आसपास की साफ-सफाई का पूरा ख्याल रखें।
  • दूषित भोजन और दूषित पानी के सेवन से बचें। बाहर का खान न खाएं। फास्ट फूड और मांसाहार का सेवन करने से बचें।
  • भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। जाना भी हो तो मास्क जरूर लगाएं। घर लौटकर पहले साबुन से हाथ धोएं और उसके बाद ही कुछ खाएं। यदि सर्दी जुकाम है तो रूमाल साथ रखें। बार-बार मुंह और नाक को हाथ न लगाएं। ऐसी स्थिति में थोड़ी-थोड़ी देर में साबुन से हाथ धोते रहें।
  • छोटे बच्चों, बुजुर्गों और ऐसे लोगों का खास ख्याल रखें, जिनकी बीमारियों से लड़ने की ताकत कमजोर है।
  • योग और प्राणायाम को अपनी जिंदगी का हिस्सा बना लें। खासतौर पर श्वसन तंत्र को मजबूत करने वाले योगासन और प्राणायाम रामबाण साबित हो सकते हैं। बच्चे स्कूल में खाना खाने से पहले हाथ जरूर धोएं। यदि पानी नही है तो सेनेटाइजर का इस्तेमाल करें। स्वस्थ्य जीवनशैली अपनाएं। स्मोकिंग और अल्कोहल से दूर रहें।
  • मास्क पहनते समय क्या-क्या सावधानियां बरतें
    मास्क अच्छी क्वालिटी का हो। मान्यता प्राप्त कंपनी से बना हो। एक ही मास्क को कई दिनों तक न पहनें। मास्क यदि नम हो गया है तो उसे तुरंत बदल दें। ऐसे मास्क को घर में यहां-वहां रखने के बजाए उसे डस्टबिन में फेंक दें। एक दूसरे के मास्क का इस्तेमाल कभी न करें। मास्क हमेशा पीछे से उतारें। सामने वाले हिस्से पर ज्यादा हाथ न लगाएं। 
    वीडियो: Anupam Kher ने बताया Coronavirus से बचने का तरीका, भारतीय संस्कृति का हिस्सा है इलाज
    क्या Coronavirus लाइलाज है?
    Coronavirus का टीका अब तक नहीं खोजा जा सका है, लेकिन ऐसा नहीं है कि यह बीमारी लाइलाज ही है। अभी डॉक्टरों से लक्ष्णों जैसे सर्दी जुकाम और बुखार का इलाज कर रहे हैं। सावधानी बरती जाए और स्वस्थ्य जीवन शैली अपनाई जाए तो मरीज पूरी तरह ठीक भी हो सकता है। भारत में केरल के तीन मरीजों को स्वस्थ्य किया जा चुका है। 
    देशों के कोरोना वायरस के निपटने के उपाय

Powered by Blogger.