JYOTIRADITYA SCINDIA ने भाजपा ज्वॉइन करने के बाद कही ये बातें, बताया क्यों छोड़ी कांग्रेस


Jyotiraditya Scindia ने आखिरकार भाजपा का दाम थाम लिया। सोमवार करीब 3 बजे Jyotiraditya Scindia दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय पहुंचे और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। भाजपा का दामन थामने के बाद Jyotiraditya Scindia ने मीडिया को संबोधित किया और बताया कि आखिरी उन्हें कांग्रेस छोड़ने के लिए क्यों मजबूर होना पड़ा। Jyotiraditya Scindia ने कहा, कांग्रेस अब पहले जैसी पार्टी नहीं रही। यहां जड़ता का वातावरण है। नए नेतृत्व और नई सोच के लिए कोई जगह नहीं है। वहीं Jyotiraditya Scindia ने इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी खूब तारीफ की और कहा कि उनके नेतृत्व में देश का भविष्य उज्ज्वल है। पढ़िए Jyotiraditya Scindia का पूरा बयान -
'मेरे जीवन में दो तारीखें बहुत अहम हैं। पहली 30 सितंबर 2001, जिस दिन मैंने अपने पूज्य पिता को खोया। दूसरी तारीख 10 मार्च 2020 जब उनकी 75वीं वर्षगांठ पर मैंने जीवन में नए मोड का सामना करते हुए बड़ा निर्णय लिया। मैंने सदैव माना है कि हमारा लक्ष्य भारत मां की सेवा और जन सेवा होना चाहिए। राजनीति इसका एक माध्यम मात्र है। उससे ज्यादा नहीं। मेरे पूज्य पिताजी और मैंने 19 सालों में जो भी समय मिला, पूरी शिद्दत के साथ यही करने की कोशिश की है।'

इसलिए छोड़ी कांग्रेस
'आज कांग्रेस पार्टी को लेकर मेरा मन दुखी है, क्योंकि आज जो स्थिति बनी है, उसमें मैं कह सकता हूं कि वहां रहते हुए जनसेवा नहीं कर पा रहा था। इसके अलावा तीन बिंदु हैं, जो कांग्रेस छोड़ने का मुख्य कारण बने। यहां वास्तविकता से इन्कार किया जाता है, वास्तविकता से समझकर उसके हिसाब से काम नहीं होता, यहां जड़ता आ गई है, नई सोच, नई विचारधार और नए नेतृत्व को सही मान्यता नहीं मिली है। ऐसा वातावरण राष्ट्रस्तर पर निर्मित हो चुका है।'ढ़ें

मध्यप्रदेश बदहाल
'मेरे गृह राज्य में हमना एक सपना संजोया था जब 2018 में सरकार बनी थी। लेकिन 18 महीने में वह सपना बिखर गया। कहा गया था कि किसानों का 10 दिन में कर्ज माफ कर देंगे, 18 महीने बाद भी किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ है। आज भी किसानों को बोनस नहीं मिला है। मंदसौर गोलीकांड में जो केस दर्ज हुए थे, वो आज तक वापस नहीं हुए हैं। किसान त्रस्त है, नौजवान बेबस है। रोजगार के अवसर नहीं है। भ्रष्टाचार हो रहा है। रेत माफिया, ट्रांसफर माफिया काम कर रहे हैं।'

पीएम मोदी की तारीफ की
'मैं खुद को सौभाग्यशाली समझता हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोजीदी, अमित शाहजी और जेपी नड्डाजी ने मुझे वो मंच प्रदान किया, जिसका आधार बनाकर मैं जनसेवा और राष्ट्रसेवा कर सकता हूं। देश के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुई कि दो बार पूर्ण बहुमत के साथ कोई सरकार चुन कर आए। हमारे प्रधानमंत्रीजी समर्पित भाव से काम करते हैं। वे पूरी श्रद्धा और क्षमता के साथ काम करते हैं। वे भविष्य की चुनौतियों के देखते हैं और उनका सामना करने के लिए योजना बनाते हैं। मैं कह सकता हूं कि मोदी के नेतृतव में भारत का भविष्य सुरक्षित है।'
Powered by Blogger.