MP के जबलपुर में CORONAVIRUS ने दी दस्तक ,दुबई से लौटे सराफा व्यापारी के परिवार के तीन लोग संक्रमित


जबलपुर। कोरोना को लेकर जबलपुर में बरती जा रही सारी सावधानियां शुक्रवार शाम उस वक्त धरी रह गईं जब दुबई से लौटे शहर के एक सराफा व्यापारी के परिवार के तीन लोग संक्रमित पाए गए। इसके अलावा चौथा मरीज सिविल लाइन का है जो स्विटजरलैंड से आया है। देखते ही देखते यह खबर सोशल मीडिया में वायरल हुई और लोगों में दशहत नजर आने लगी। अभी तक अपने आपको कोरोना के संक्रमण से मुक्त समझ रहे शहरवासी अचानक मास्क और सैनेटाइजर खरीदने मेडिकल दुकानों की ओर दौड़ लगाने लगे। इधर, गुरुवार रात विक्टोरिया से मेडिकल कॉलेज अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड रेफर किए गए कोरोना संक्रमित मरीजों को लेकर मेडिकल क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चा होती रही। कुछ लोगों ने बताया कि संभवत: मरीजों को रिपोर्ट की जानकारी नहीं दी गई थी, इसलिए उनमें से कुछ भर्ती होने के बाद अस्पताल के बाहर चाय-पान की दुकानों पर घूमते रहे। हालांकि मेडिकल के डॉक्टरों का कहना है कि मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में ही रहने के निर्देश दिए गए थे। उसके बाद भी वे दुकानों तक पहुंचे तो इसकी जांच कर संबंधित व्यापारियों को चिन्हित कर उनकी भी जांच कराई जाएगी जहां कथित तौर पर संक्रमित मरीज पहुंचे थे।
उनकी तलाश शुरू, जिनके संपर्क में रहे मरीज : एक साथ 4 मरीज मिलने के बाद प्रशासन, पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम उन लोगों की खोजबीन करने में जुट गई, संक्रमित मरीज शहर पहुंचने के बाद रिपोर्ट आने तक जिन लोगों के संपर्क में आए थे। बताया जाता है कि आभूषण कारोबारी के प्रतिष्ठानों में कर्मचारियों की संख्या करीब डेढ़ सौ है। घर में भी कई सदस्य एक साथ निवास करते हैं। रोजाना सैकड़ों ग्राहकों का आना-जाना रहता है। ट्रेन के जिस डिब्बे में उन्होंने यात्रा की थी, उसमें सवार अन्य यात्रियों की जानकारी लेकर उन्हें भी ट्रेस करने का प्रयास किया जा रहा है। वे जिन शहरों के निवासी हैं वहां प्रशासन को जानकारी देकर उन्हें भी आइसोलेट कराया जाएगा। पुलिस ने देर रात तक ऐसे लोगों की सूची तैयार कर ली थी जो संक्रमित लोगों के संपर्क में आए हैं।
सराफा बाजार बंद : उधर सराफा व्यापारी का परिवार कोरोना संक्रमित होने की खबर मिलते ही सराफा एसोसिएशन की आवश्यक बैठक हुई। एसोसिएशन के अध्यक्ष आनंद मोहन पाठक ने बताया कि बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि तात्कालिक रूप से शनिवार से लेकर मंगलवार तक सराफा बाजार पूर्णत: बंद रहेगा। सभी सराफा व्यापारियों से उन्होंने आग्रह किया है कि अपनी-अपनी दुकानें बंद कर सहयोग प्रदान करें।
पुलिस ने बनाई सूची : संक्रमित सराफा व्यापारी का परिवार जबलपुर में आने के बाद जिन लोगों के भी संपर्क में आया उन सभी की पुलिस सूची बना रही है। इसमें व्यापारी के प्रतिष्ठान में काम करने वाले करीब डेढ़ सौ लोग भी शामिल हैं। पुलिस सभी को जांच के लिए आइसोलेशन वार्ड लेकर पहुंचेगी।
आभूषण विक्रेता के 17 कर्मचारी आइसोलेट
जिस आभूषण कारोबारी के परिवार के 3 सदस्य कोरोना वायरस की चपेट में मिले हैं, वहां कार्यरत 17 कर्मचारियों को देर रात विक्टोरिया अस्पताल में आइसोलेट कराया गया। आभूषण दुकान में बीते कुछ दिनों में कितने लोग खरीदी करने पहुंचे, बिल बाउचर व सीसीटीवी फुटेज से उनकी भी पहचान कराई जा रही है। सभी को स्क्रीनिंग के लिए विक्टोरिया लाया जाएगा।
जर्मनी से लौटे दवा व्यापारियों की ली जा रही खबर
शुक्रवार रात इस अफवाह ने जोर पकड़ लिया कि माढ़ोताल व शक्ति नगर निवासी दवा कारोबारियों का समूह विदेश की सैर करने जर्मनी गया था। करीब 5 दिन पूर्व सभी कारोबारी शहर लौट आए। वे अपनी दुकानों पर भी बैठ रहे हैं। उन्होंने विक्टोरिया अस्पताल में सेहत की जांच नहीं कराई।
तीन पत्ती से गोहलपुर तक दुकानों को बंद कराया
कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद पुलिस अलर्ट मोड में आ गई। जिला अस्पताल, मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। रात में पुलिस अधीक्षक अमित सिंह बल के साथ शहर भ्रमण पर निकले और तीन पत्ती चौक से गोहलपुर तक व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को बंद कराया।

Powered by Blogger.