MP LIVE : मध्य प्रदेश में फ्लोर टेस्ट के लिए भाजपा ने विधायकों को जारी किया व्हिप


\मध्य प्रदेश विधानसभा में सोमवार को होने जा रहे फ्लोर टेस्ट के लिए भाजपा ने अपने विधायकों को व्हिप जारी कर अनिवार्य रूप से उपस्थित होकर भाजपा को बहुमत दिलाने के लिए व्हिप जारी किया है। कांग्रेस विधायक रविवार सुबह जयपुर से विशेष विमान द्वारा भोपाल पहुंचे और इन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच होटल पहुंचाया गया। इस बीच सीएम कमलनाथ के निवास पर दिग्विजय सिंह और संसदीय कार्य मंत्री के बीच बैठक जारी है, ये सभी फ्लोर टेस्ट को लेकर बात कर रहे हैं। आज मंत्रिमंडल की भी बैठक होना है, इसके बाद शाम को विधायक दल की बैठक होगी, जिसमें सभी को फ्लोर टेस्ट को लेकर जानकारी दी जाएगी।

उधर बेंगलुरु में मौजूद ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक विधायकों ने रविवार सुबह फिर वीडियो जारी कर कहा कि हमने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। हम अपनी स्वेच्छा से यहां आए हुए हैं और किसी ने हमें बंधक नहीं बनाया है। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए हमें सीआरपीएफ की सुरक्षा मांगी हैं, हो सकता है कि हमें स्पीकर से मिलने नहीं दिया जाए। 

विधायकों ने यह भी कहा कि अगर परिजनों द्वारा कोई शिकायत की जाए तो उसे अमान्य कर दिया जाए। भाजपा भी अपने विधायकों को गुरुग्राम के होटल से भोपाल लाने की तैयारी कर रही है। दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा‍ कि कमलनाथ सरकार अल्प मत में हैं, फ्लोर टेस्ट की पूरी तैयारी हो चुकी है और सरकार गिरेगी। मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने शनिवार देर रात सीएम कमलनाथ को पत्र लिखकर सोमवार को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट कराने के लिए कहा है। मध्य प्रदेश में चल रहे इस सियासी संग्राम को लेकर सभी जानकारी पढ़ि‍ए यहां…

फ्लोर टेस्ट में बहुमत के लिए भाजपा ने जारी किया व्हिप
मध्य प्रदेश विधानसभा में 16 मार्च को होने वाले फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करने के लिए भाजपा ने अपने विधायकों को व्हिप जारी किया है। सभी को विधानसभा में उपस्थित होकर भाजपा के पक्ष में वोट देने के निर्देश दिए गए हैं। गौरतलब है कि भाजपा के सभी विधायक गुरुग्राम के होटल में हैं, ऐसे में पार्टी उन्हें कभी भी भोपाल ला सकती है।

बेंगलुरु में मौजूद विधायकों का वीडियो, हमें कांग्रेस सरकार से खतरा
बेंगलुरु में मौजूद ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक 22 विधायकों ने रविवार सुबह एक नया वीडियो जारी कर कहा है कि उन सभी ने अपना इस्तीफा दे दिया है। ये सभी भोपाल आना चाहते हैं इसके लिए विधायकों ने सीआरपीएफ की सुरक्षाा मांगी है, सभी ने कांग्रेस सरकार से खुद को खतरा बताया और कहा कि जब सिंधिया जी को भोपाल में निशाना बनाया जा सकता है तो हमें भी खतरा है।

भोपाल एयरपोर्ट रोड पर चप्पे-चप्पे पर कड़ा सुरक्षा पहरा
जयपुर से भोपाल पहुंच रहे कांग्रेस के विधायकों की सुरक्षा के साथ ही बेंगलुरु से आने वाले विधायकों और भाजपा के विधायकों की आने की सूचना पर पुलिस सक्रिय हुई। एयरपोर्ट पर धारा 144 लगा दी गई है। 5 थाना प्रभारी सहित एडिशनल एसपी व यातायात डीएसपी भी मौके पर मौजूद हैं। एयरपोर्ट से लेकर गांधीनगर चौराहे तक पुलिस की सघन चेकिंग जारी है। एयरपोर्ट पर सिर्फ उन्हीं लोगों को जाने की अनुमति जिनके पास बोर्डिंग है।

नरोत्तम मिश्रा ने कहा, हमारे विधायक एक घंटे में ही भोपाल आ जाएंगे
पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कुहासे और धुंध के बादल छटते जा रहे हैं, शाम तक बहुत सारे बादल जा चुके होंगे और वह सभी बातों पर तैयार हो जाएंगे। राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष दोनों संवैधानिक पद पर बैठे हुए हैं, दोनों सही निर्णय लेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे विधायक पास में ही हैं, एक घंटे में आ जाएंगे, प्रतीक्षा करिए। ज्योतिरादित्य सिंधिया जी बीजेपी के नेता हैं उनके समर्थक उनके साथ हैं। अन्य विधायकों के इस्तीफे और विधानसभा अध्यक्ष की कार्रवाई पर नरोत्तम मिश्रा बोले, 24 घंटे के अंदर सबकुछ सामने आ जाएगा। कांग्रेस चाहे तो सुप्रीम कोर्ट चले जाएं, सुप्रीम कोर्ट के कई निर्णय आ चुके हैं, कांग्रेस बहुमत खो चुकी है। कांग्रेस के आरोपों पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस के मंत्रियों के प्रति मेरी संवेदना है, अब तो चला चली की बेला है।

हरीश रावत ने कहा, हम मध्य प्रदेश में फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत ने कहा कि हम मध्य प्रदेश में फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हैं और भरोसा है कि इसमें जीत हमारी होगी। हम बेचैन नहीं है, भाजपा बेचैन है। बागी विधायक हमारे संपर्क में है। उन्होंने यह बात जयपुर एयरपोर्ट पर कहीं, जहां वे मध्य प्रदेश के कांग्रेस विधायकों से मिलने पहुंचे थे। भोपाल पहुंचने पर विधायकों को होटल मेरियट में रुकवाया जाएगा।

भोपाल एयरपोर्ट पर धारा 144, विधायकों के लिए बस तैयार
जयपुर से लौट रहे कांग्रेस विधायकों के लिए भोपाल एयरपोर्ट पर तैयारी पूरी कर ली गई है। एयरपोर्ट पर धारा 144 लागू की गई है। वहीं विधायकों को ले जाने के लिए बस भी तैयार खड़ी है। जैसे ही विशेष विमान से विधायक भोपाल आते हैं उन्हें यहां से तुरंत ले जाया जाएगा। उधर विमान में बैठने से पहले कांग्रेस विधायकों ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष फ्लोर टेस्ट को लेकर निर्णय लेंगे। भाजपा ने बेंगलुरु में जिन विधायकों को बंधक बना रखा है उन्हें तुरंत छोड़ा जाए। मध्य प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि राज्यपाल के निर्णय पर सत्र शुरू हो गया है अब आगे का फैसला विधानसभा अध्यक्ष को लेना है। उन्होंने कहा कि भाजपा राज्यपाल जी पर भी दबाव बना रही है।

कांग्रेस विधायक दल की आज शाम होगी बैठक
कांग्रेस ने रविवार शाम को विधायक दल की बैठक बुलाई है। इसमें सत्र में विपक्ष द्वारा सरकार को घेरे जाने के खिलाफ रणनीति तैयार की जाएगी। इधर, विधायक दल के मुख्य सचेतक और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने पूरे सत्र के लिए व्हिप जारी किया है। इससे अब कांग्रेस विधायकों को सत्र के दौरान पूरे समय उपस्थित रहना अनिवार्य होगा। उधर, भाजपा विधायक दल की बैठक भी रविवार को हो सकती है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दिल्ली गए हुए हैं। इधर, हरियाणा के मानेसर (तायडू) में मौजूद भाजपा विधायकों को भी रविवार या सोमवार सुबह भोपाल लाया जा सकता है।

शोभा ओझा बोली, बेंगलुरु में विधायकों को बंधक बनाया गया
कांग्रेस की महिला नेता शोभा ओज्ञा ने कहा कि बेंगलुरु में विधायकों को बंधक बनाकर रखा गया है। भाजपा बार-बार एक ही बात कह रही है कि विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है, यह बात उन्होंने टीवी पर कही है। विधानसभा स्पीकर ने सभी विधायकों को सामने आकर अपनी बात रखने को कहा है, लेकिन भाजपा उन्हें आने नहीं दे रही। सीएम ने खुद राज्यपाल से कहा है कि हमारे पास बहुमत है।

जयपुर से भोपाल लौट रहे कांग्रेस विधायक
कांग्रेस अपने विधायकों को जयपुर से विशेष विमान से भोपाल ला रही है। दोनों रिसॉर्ट से उन्हें एयरपोर्ट ले जाया जा रहा है। इसके बाद वे भोपाल के लिए रवाना हो जाएंगे। सभी विधायक आज शाम होने वाली विधायक दल की बैठक में शामिल होंगे। सोमवार को कमलनाथ सरकार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित करना है, ऐसे में विधायकों को निर्देश दिए जाएंगे कि वे कैसे वोट करें। उधर बेंगलुरु में मौजूद विधायकों से कांग्रेस का कोई संपर्क नहीं हो पाया है।

मध्य प्रदेश विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण के बाद होगा फ्लोर टेस्ट
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत प्रदेश भाजपा नेतृत्व का एक दल द्वारा राज्यपाल लालजी टंडन से मिलने के सात घंटे बाद राज्यपाल ने कमलनाथ सरकार को विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने का निर्देश दे दिया। मध्यरात्रि जारी पत्र में राज्यपाल ने कहा कि सरकार अभिभाषण के ठीक बाद बहुमत साबित करे। विश्वास मत विभाजन के आधार पर बटन दबाकर होगा, अन्य किसी तरीके से नहीं। इसकी संपूर्ण प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराई जाए। यह कार्यवाही हर हाल में 16 मार्च को प्रारंभ होगी और स्थगित, विलंबित या निलंबित नहीं की जाएगी। इस फरमान के साथ जोड़-तोड़ की सियासत करने वालों को तगड़ा झटका लगा है। कमलनाथ को भेजे पत्र राज्यपाल ने संविधान के अनुच्छेद 174 व 175 (2) एवं अन्य संवैधानिक शक्तियों का प्रयोग करते हुए राज्य सरकार को फ्लोर टेस्ट करवाने का आदेश दिया है। इससे पहले भाजपा ने 16 मार्च से पहले विधानसभा का सत्र बुलाने और फ्लोर टेस्ट की मांग की थी।
Powered by Blogger.