REWA : भू-स्वामियों को तहसील-पटवारियों के पास नहीं लगाना पड़ेगा चक्कर, खसरा-खतौनी के लिए खोले गए ये 1200 केन्द्र


रीवा. जिले में भू-स्वामियों को राजस्व रेकॉर्ड के लिए अब तहसील और लोक सेवा केन्द्र का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। इतना ही नहीं लोगों को पटवारियों से भी निजात मिलेगी। सोमवार को सरकार की नई व्यवस्था प्रारंभ कर दी गई। जिले राजस्व रेकॉर्ड के लिए 1200 कियोस्क सेटरों पर एक साथ सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। जिला मुख्यालय पर भू-अधीक्षक ने कियोस्टर सेंटर का शुभारंभ किया है। इस दौरान कुछ भू-स्वामियों को डिजिटल खसरा-खतौनी भी दिया गया।

12 तहसीलों के 7 लाख से ’यादा भू-स्वामियों को मिलेगा लाभ
जिले की 12 तहसील क्षेत्र में 7 लाख से ’यादा भू-स्वामी हैं। प्रमाणित राजस्व रेकॉर्ड के लिए लोगों को तहसील की नकल शाखा से लेकर लोक सेवा केन्द्र के साथ ही पटवारियों के पास चक्कर लगाना पड़ता था। राजस्व विभाग ने राजस्व रेकॉर्ड के लिए एमपीऑनलाइन कियोस्क के माध्यम से नवीन व्यवस्था चालू कर दी है। जिला भू-अधीक्षक गोविंद प्रसाद सोनी ने कियोस्क सेंटर पर राजस्व विभाग की सेवाएं चालू करने के लिए जिला मुख्यालय पर प्रतीकात्मक सेंटर का शुभारंभ किया।

1200 कियोस्क सेंटर पर राजस्व रिकॉर्ड के लिए आवेदन कर सकेंगे
भू-अधीक्षक ने कहा कि भू-स्वामियों को तहसील, लोक सेवा केन्द्रों की तरह अब एमपी ऑनलाइन कियोस्टर सेंटरों पर भी सत्यापित राजस्व रिकॉर्ड के लिए आवेदन कर सकेंगे। कियोस्क सेंटर भी खसरा-खतौनी और नक्शा के लिए शासकीय फीस निर्धारित की गई है। भू-अधीक्षक ने कहा कि शासन की नई व्यवस्था से जनता को राजस्व रेकॉर्ड ेक लिए सहूलियत मिलेगी। तहसील, पटवारी और लोक सेवा केन्द्र का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। किसी भी कियोस्क सेंटर से राजस्व रेकॉर्ड उपलब्ध हो जाएंगे। जिले में 1200 केन्द्रों पर भू-स्वामियों को राजस्व रेकॉर्ड की सुवधिाएं मिल सकेंगी। शुभारंभ अवसर पर भू-अधीक्षक ने केन्द्र का फीताकाट कर उद्घाटन किया और कई भू-स्वामियों को सत्यापित खसरा व खतौनी भी उपलब्ध कराए। शुभारंभ अवसर पर राजस्व निरीक्षक ललन सिंह, कियोस्क संचालक विनय सिंह, जावेद अंसारी, संतोष श्रीवास्तव सहित दर्जनों की संख्या में अन्य कर्मचारी व पटवारी मौजूद रहे।

कियोस्टर सेंटरों पर यह मिलेंगी सुविधाएं 

भू-आयुक्त मध्य प्रदेश शासन की ओर से जारी नवीन आदेश के अनुसार खसरा की प्रथम प्रतिलिप 30 रुपए देना होगा। जबकि उसी नंबर की दूसरी प्रति के लिए 15 रुपए शुल्क निर्धारित किया गया है। इसी तरह बी-1, नक्शा और खातावार खसरा की प्रतिलिप के लिए नवीन दरें निर्धारित की गई हैं। 


ऐसे मिलेगी सुविधाएं

भू-अभिलेख प्रतिलिप के लिए कियोस्क सेंटर पर करें ऑनलाइन आवेदन। 
आवेदन के 30 मिनट के भीतर सत्यापित डिजिटल राजस्व रेकॉड ऑनलाइन मिलेगा। 
सेवा शुक्ल नगद भुगतान पर कियोस्क सेंटर संचाकल से रसीद आश्वय लें। 
ऑनलाइन रसदी में उल्लेखित शुल्क से अधिक का भुगतान न करें। 
यादि कियोस्क संचालक के द्वारा निर्धारित शुल्क से अधिक राशि की मांग करता है तो कस्टमर केयर नंबर 0755-6720200 पर शिकायत करें।
Powered by Blogger.