REWA : 66 हजार 396 छात्र-छात्राएं आज हल करेंगे हिंदी का पर्चा


रीवा । माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड की परीक्षाएं 2 मार्च से शुरू हो रही हैं। परीक्षा के पहले दिन 12वीं बोर्ड के परीक्षार्थी विशिष्ट हिंदी विषय का प्रश्न पत्र पूरा करेंगे। परीक्षा को लेकर शिक्षा विभाग और जिला प्रशासन ने जहां व्यापक तैयारी कर ली है वहीं परीक्षार्थी भी बोर्ड की परीक्षा को लेकर दिन रात तैयारी में लगे हुए हैं। 12वीं बोर्ड के परीक्षार्थी दूसरी बार बोर्ड की परीक्षा में बैठेंगे वहीं दसवीं बोर्ड की 3 मार्च से होने वाली परीक्षा में वे पहली बार बोर्ड की कठिन परीक्षा में शामिल हो रहे है। यही वजह है कि परीक्षार्थियों में इस परीक्षा को लेकर भय बना हुआ है हालांकि विभाग द्वारा लगातार छात्रा को समझाइश दी गई है कि वे किसी भी तरह से भयभीत न हो और पूरी सूझबूझ के साथ अपने प्रश्न पत्र पूरा करे। इससे परीक्षा के समय उन्हें किसी भी तरह की समस्या नहीं होगी और वे अच्छे अंकों से पास हो सकेंगे।
66 हजार से ज्यादा शामिल होगे बोर्ड में परीक्षाथीं
बोर्ड की परीक्षा में इस वर्ष जिले से 66 हजार 396 परीक्षार्थी हिस्सा ले रहे हैं। जिसमें से जिले में 12वीं बोर्ड में 24 हजार 471 परीक्षार्थी हिस्सा ले रहे हैं। उक्त पंजीकृत परीक्षार्थियों में 22 हजार 73 परीक्षार्थी नियमित एवं 23 सौ 78 परीक्षार्थी स्वाध्याय शामिल हो रहे हैं। इसी तरह दसवीं बोर्ड की परीक्षा में 41 हजार 925 परीक्षार्थी हिस्सा ले रहे हैं जिसमें 37 हजार 600 परीक्षार्थी नियमित एवं 4 हजार 315 परीक्षार्थी प्राइवेट हिस्सा ले रहे हैं। उक्त परीक्षा को पूरा करने के लिए जिले में 99 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जंहा सुबह 9 बजे से परीक्षा शुरू हो जाएगी। परीक्षा समय से 15 मिनट पूर्व परीक्षार्थीयों को परीक्षा कक्ष में पहुचना होगा।
20 केंद्रों पर रहेगी विशेष नजर
जिले में 20 केंद्रों पर परीक्षा विभाग और जिला प्रशासन की विशेष नजर रहेगी। ऐसे परीक्षा केंद्रों को संवेदनशील और अतिसंवेदनशील घोषित किया गया है। जिनमें 17 अति संवेदनशील और 3 संवेदनशील केंद्र बनाए गए हैं। उक्त केंद्रों में कैमरे का उपयोग किया जा रहा और परीक्षा की वीडियोग्राफी कराए जाने के साथ ही सुरक्षा बल भी तैनात रहेंगे जबकि अन्य परीक्षा केंद्रों में पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है।
विभाग के 15 सहित जिला प्रशासन का दस्ता रखेगा निगरानी
परीक्षा के दौरान नकल पर नकेल कसने के लिए जिला प्रशासन द्वारा सभी एसडीएम को निर्देश दिए गए हैं। वे अपने क्षेत्रों में परीक्षा के दौरान सतत निगरानी रखेंगे तो वही जेडी स्कूल शिक्षा के 3 पैनल बनाए गए है। इसी तरह जिला शिक्षा अधिकारी के 3 पैनल रहेगा जबकि 9 ब्लाक शिक्षा अधिकारी के पैनल बनाए गए है। साथ ही परीक्षा केंद्रों में केंद्राध्यक्ष सहित अन्य निगरानी रखेंगें।
जूता मोजा भी होगा चेक
परीक्षा के दौरान शिक्षा विभाग सहित जिला प्रशासन अलर्ट है। बताया जा रहा है कि परीक्षा कक्ष में जाने से पूर्व परीक्षार्थीयों की जांच केंद्राध्यक्ष की निगरानी में की जाएगी। जूता मोजा की जांच करने सहित परीक्षा कक्ष के अंदर किसी भी तरह की सामग्री परीक्षार्थी नहीं ले जा सकेंगे। बताया जा रहा है कि परीक्षार्थी के मोबाइल और कैलकुलेटर आदि भी प्रतिबंधित रहेगा।
इनका कहना है
बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। संबंधित केंद्रों के समीप थानों में गोपनीय सामग्री रखी गई और परीक्षक के आधे घंटे पूर्व उक्त सामग्री केंद्रों में ले जाई जाएगी। परीक्षा के दौरान निगरानी रखने के लिए अलग-अलग पैनल भी बनाए गए हैं और वे सतत परीक्षा केंद्रों में भ्रमण करके व्यवस्था सहित नकल पर अपनी निगरानी रखेंगे।
आरएन पटेल जिला शिक्षा अधिकारी।


Powered by Blogger.