REWA : पंचायत मंत्री को संविदा कर्मचारियों ने घेरा, तो मंत्री ने कह डाली ये बात


रीवा. मध्य प्रदेश संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के पदाधिकारी आंदोलन के दूसरे दिन सर्किट हाउस में पंचायत मंत्री कमलेश्वर पटेल से मिले। इस दौरान पंचायत संविदा कर्मचारियों ने मंत्री को आवेदन देकर कहा कि सरकार वचन पत्र निभाओं, नियमित किया जाए। जवाब में मंत्री ने कहा कि सरकार क्रशम: वचन पत्र पर काम कर रही है। पांच साल के भीतर सरकार की कोशिश है कि धीरे-धीरे सभी वचन पत्र पूरे हो जाएं।

संविदा कर्मचारियों ने रोजगार सहायकों के वेतन बढ़ाने की मांग उठाई
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल बुधवार की सुबह सर्किट हाउस पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मनरेगा को लेकर केन्द्र की भाजपा सकरार को कोसा। संविदा कर्मचारियों ने रोजगार सहायकों के वेतन बढ़ाने की मांग उठाई। इस दौरान कर्मचारियों ने संविदा अधिकारी व कर्मचारियों ने नारे लगाए कि मुख्यमंत्री वादा निभाओ, अभी करो अर्जेंट करो, हमको परमानेंट करो। मनरेगा में नवीन अनुबंध को खत्म किए जाने को लेकर भी नारे लगाए। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग में लंबे सयम से पदस्थ अधिकारी व कर्मचारियों तीन सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेशभर में प्रदर्शन किया।


मनरेगा के नवीन अनुबंद होगा निरस्त
जिले के संविंदा अधिकारी व कर्मचारियों ने तीन सूत्रीय मांगों का ज्ञापन देकर नियमतीकरण किए जाने के लिए आवाज बुलंद की। इस दौरान कर्मचारियों ने कहा कि मनरेगा की आयुक्त शिल्पा गुप्ता के द्वारा पिछले दिन वीडियो कान्फ्रेंस के दौरान नवीन वार्षिक कार्यप्रणाली पत्रक (एपीआर) के तहत नया अनुबंध करने का निर्देश दिया गया है। जिसे तत्काल खत्म किया जाए। बचन पत्र के तहत विभिन्न विभागों, योजनाओं एवं परियोजनाओं आदि में कार्यरत कर्मचारियों को नियमतीकरण किया जाए। इस दौरान जिलाध्यक्ष एके पांडेय, बीएल पटेल, विनोद पांडेय, अजय शुक्ला, नागेन्द्र सिंह, नीलेश शर्मा, राजीव शुक्ला आदि ने संबोधित किया। सैकड़ों की संख्या में संविदा अधिकारी व कर्मचारी प्रदर्शन में शामिल रहे।
Powered by Blogger.