REWA : सीएम हेल्प लाइन में शिक्षक मांग रहा निलंबन की बहाली ,तो कोई मांग रहा सरकारी नौकरी


रीवा। जन सुविधा के लिए प्रांरभ सीएम हेल्प लाइन में दुरुपयोग के भी मामले सामने आ रहे है। स्थिति यह है कि सीएम हेल्प लाइन में जहां शिक्षक अपने निलंबन की बहाली मांग रहे है। तो कहीं स्कूल में चपरासी की नियुक्त । इसके लिए वह लगातार शिकायतें कर रहे है। विभाग के अधिकारी शिकायत बंद करते है तो दूसरे दिन फिर यह शिकायतें सामने आ जाती है। स्थित यह है कि गंगेव अंतर्गत हिनौता स्कू ल में चपरासी की नियुक्त के लिए पिछले पांच साल से लगातार शिकायत कर रहा है। वहीं निलंबित शिक्षक पिछले एक साल में 100 बार शिकायत कर चुका है। एक ही प्रकार की इन शिकायतों में विभाग के अधिकारी उलझे हुए है। इतना ही नहीं शिक्षा विभाग में ज्यादातर शिकायतें शिक्षकों की होने से इनका निराकृत करनेे अधिकारी पसीना बहा रहे है जबकि इसके लिए विभागीय प्रक्रिया है।

केंस ०१
गंगेव अंतर्गत हिनौता स्कू ल में चपरासी पद के लिए हरिशंकर द्विवेदी 2014 से लगातार शिकायत कर रहे है। उनका तर्क है कि उन्हें स्कू ल में चपरासी की नियुक्त के लिए तत्कालीन मुख्य मंत्री ने नौकरी देने का आश्वासन दिया था ,लेकिन अभी तक नियुक्त नहीं मिली। इस संबंध में कई बार सीएम हेल्प लाइन में लगातार शिकाशत कर रहे है। जैसे ही यह शिकायत निराकृत कर अधिकारी प्रतिवेदन देते है। फिर से शिकायत कर देते है। यह क्रम पिछले पांच सालों से चला आ रहा है। विभाग के अधिकारियों की माने तो नियुक्त के एक प्रक्रि या है उसके तहत ही नियुक्त दी जा सकती है।

केस ०२
मऊगंज अंतर्गत खैरा कनकेसरा निवासी लवकुश द्विवेदी शिक्षक में पदस्थ है। इन्हें सिविल आरचरण संहिता का उल्लघन करने पर निलंबित किया गया है। निलंबन के बाद वह लगातार सीएम हेल्प लाइन में शिकायत कर रहे है। स्थिति यह है कि 80 से अधिक शिकायत अकेले शिक्षा विभाग की कर चुके है। इसके अतिरिक्त अन्य विभागों की शिकायत कर चुके है। जबकि शिक्षक के निलंबन व बहाली की पूरी विभागीय प्रक्रिया है। इनके द्वारा लगातार की जा रही शिकायतों के चलते शिक्षा विभाग के अधिकारी उलझे हुए है।

7 सौ शिकायतें लंबित
शिक्षा विभाग में ७०० सीएम हेल्प लाइन की शिकायत है। इनमें 300 शिकायतें छात्र वृत्ति को लेकर है। इसके अतिरिक्त अतिथि शिक्षकों के वेतन भुगतान और नियुक्त की शामिल है। इसके अतिरिक्त शिक्षकों की क्रमोन्नति एवं पदोन्नति संबंधी शिकायतें सीएम हेल्प लाइन में लंबित है। इन लंबित शिकायतों पर कलेक्टर का सख्त रुख देखने के बाद विभाग शिविर लगाकर शिकायत निराकृत कर रहे हैं।
Powered by Blogger.