REWA : हत्या का आरोप लगाकर परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार करने से किया इंकार


रीवा. आटो सहित नहर में समाए युवक की मौत के बाद शुक्रवार को परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया। परिजन हत्या का मामला दर्जकरने की मांग कर रहे थे।हालांकि बाद में पुलिस द्वारा समझाईश देने पर परिजन शव का अंतिम संस्कार करने को राजी हो गए। मनगवां थाना अन्तर्गत रघुराजगढ़ निवासी आशीष कोल 26 वर्ष होली के दिन आटो लेकर निकला था जिसके बाद वह लापता हो गया। अगले दिन उसका आटो गांव की नहर में मिला। पुलिस उसके नहर में डूबने की आशंका पर नहर में सर्चिंग करवा रही थी जिसका गुरुवार की सांयकाल शव बरामद हुआ। 

उक्त युवक का शव लेकर घर पहुंचे परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया। परिजन उक्त युवक की हत्या का आरोप लगा रहे है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। इस दौरान पुलिस ने परिजनों से चर्चा की तो उन्होंने युवक की हत्या कर शव को नहर में डालने का आरोप लगाया और हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की। उनका आरोप था कि कुछ संदिग्धों के नाम उन्होंने मनिकवार चौकी पुलिस को बताए थे लेकिन पुलिस ने उनसे पूछताछ करना भी उचित नहीं समझा। पुलिस ने काफी देर तक परिजनों को समझाईश दी और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया जिस पर परिजन शव का अंतिम संस्कार करने को राजी हो गए। थाना प्रभारी मृगेन्द्र सिंह ने बताया कि प्रथम दृष्ट्यिा मौत के कारण सामने नहीं आए है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जो तथ्य सामने आऐंगे उस आधार पर आगे कार्रवाई की जायेगी।

एफएसएल टीम मौके पर पहुंची
परिजनों द्वारा हत्या का संदेह जताने पर मनगवां पुलिस की सूचना पर सीन आफ क्राइम यूनिट के वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी डा. आरपी शुक्ला ने भी टीम के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया और भौतिक साक्ष्य एकत्र किये। हालांकि वह किन परिस्थितियों में नहर के अंदर गिरा था यह स्पष्ट नहीं हो पाया। युवक का आटो पुल से करीब तीन सौ मीटर दूर बरामद हुआ था। इतनी दूर आटो का मिलना खुद पुलिस को भी खटक रहा है।
Powered by Blogger.