REWA : सरकार बदलते ही शिक्षा विभाग में होगें भारी तबादले


रीवा। प्रदेश में भाजपा सरकार बनते हैं जिस तरह से तबादले होने शुरू हो गए हैं उससे अब रीवा भी अछूता नहीं रह रहा है। जहां मंगलवार को नगर निगम आयुक्त का स्थानांतरण कर दिया गया वही अब शिक्षा विभाग के कई अधिकारी भी तबादले किये जाएंगे। 

मंगलवार को भाजपा सरकार ने रीवा नगर निगम आयुक्त सभाजीत यादव का स्थानांतरण कर भोपाल पदस्थ किया गया। इसके बाद अब शिक्षा विभाग में भी कार्यवाही की जाएगी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कांग्रेस शासनकाल में प्रभार पर बैठाए गए जिला शिक्षा अधिकारी, डीपीसी, रमसा सहित कई बीआरसीसी बदले जाएंगे। इतना ही नहीं जिले के तीन बीईओ भी बदले जा सकते हैं। भोपाल मुख्यालय में शिक्षा विभाग की 50 करोड़ की घोटाले की फाइल भी खोली जा सकती है जो कि कांग्रेस संगठनकाल में दबा दी गई थी। 

बताया गया है कि जो अधिकारी कांग्रेसियों खासम खास रहे जिसके चलते इन पर कार्यवाही नहीं की गई और इन्हें मलाईदार पदों पर बैठाया गया अब सरकार बदलते ही शिक्षा विभाग की एक लंबी सूची जारी होगी साथ ही घोटालों की फाइलें भी खुलेगी।

जिला शिक्षा अधिकारी पर कांग्रेसी होने के लग चुके है आरोप
जिला शिक्षा अधिकारी आरएन पटेल पर कांग्रेसी छाप की मुहर लग चुकी है। बताया गया है कि इन कांग्रेसी शासन के तत्कालीन मंत्री कमलेश्वर पटेल के खास माने जाते हैं। जिसके चलते इन्हें जिला शिक्षा अधिकारी का प्रभार दिया गया। अब सरकार बदलते ही इनका स्थानांतरण तय माना जा रहा हैं।

डीपीसी सुधीर बांडा पर भी कांग्रेसी होने का आरोप
सुधीर बांडा पर भी कांग्रेसी होने का आरोप लगा हुआ है बताया गया है कि डीपीसी के पद पर इनकी पदस्थापना शहर कांग्रेस अध्यक्ष के सिफारिश पर हुई थी जिसके चलते इन्हें निपनिया स्कूल के प्राचार्य के साथ ही डीपीसी का पद प्रभार के तौर पर दिया गया था। इनके कार्यकाल में जितनी भी पदस्थापन हुई सभी में जमकर धांधली की गई हैं। सभी पदे पदस्थ पदाधिकारीयो की भी जांच होने की संभावना है और उनके द्वारा किए गए सभी नियुक्तियों को भी रद्द किया जा सकता है। बताया गया कि डीपीसी सुधीर बांडा ने ऐसे शिक्षकों को बीआरसीसी बनाया है जिनके विरुद्ध कलेक्टर ने सख्त कार्यवाही के आदेश दिए थे पर उन पर कार्यवाही ना कर कर उन्हें लाभान्वित पदों से नवाजा गया।
Powered by Blogger.