REWA : इंदौर व भोपाल बाइक से आए दर्जन लोग रीवा में फंसे ,मदद की गुहार लगाने पहुँचे कंट्रोल रुम

रीवा. लाक डाऊन के कारण भोपाल व इंदौर में फंसे आधा दर्जन से अधिक लोगों ने बाइक से रीवा आए, जिनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया। दरअसल भोपाल व इंदौर में रीवा के करीब आठ लोग लाक डाऊन के कारण फंसे हुए थे। तमाम साधन बंद होने की वजह से उन्होंने बाइक से ही आने का फैसला किया। रविवार को चार बाइक में सवार होकर आठ लोग रीवा पहुंचे। इनमें कुछ रहट गांव के थे जबकि कुछ लोगों को मऊगंज जाना था।
झारखंड जाने के लिए काफी संख्या में श्रमिक रीवा में फंस गए है। वे रेलवे स्टेशन मोड़ के समीप रुके हुए है। यूपी से वे किसी तरह रीवा तक पहुंचे और यहां रेलवे स्टेशन मोड़ के पास रुके हुए है। उनके पास अब आगे का सफर पैदल तय करने के अलावा कोई रास्ता नहीं है। सतना के मनकहरी स्थित प्रिज्म सीमेंट फैक्ट्री में वे मजदूरी करते थे और लाक डाऊन के कारण यहां फंस गए है। किसी तरह रीवा पहुंचने के बाद अब आगे का सफर तय करने के लिए उनके पास कोई रास्ता नहीं है। काम करने के लिए रीवा आए करीब दर्जन भर लोग कई दिनों से फंसे है जिनके घर जाने की कोई व्यवस्था नहीं हो पा रही है। परेशान लोग आज कंट्रोल रुम पहुंच गए जहां अधिकारियों से मदद की गुहार लगाई है।


प्रशासन ने फिलहाल उनके भोजन की व्यवस्था कराई है। छतरपुर जिले के दर्जन भर लोग लाक डाऊन के कारण रीवा में फंसे हुए है। पिछले कई दिनों से उनको मजदूरी भी नहीं मिल रही थी जिससे उनके सामने भोजन का संकट खड़ा हो गया था। परेशान चार परिवार कंट्रोल रुम पहुंच गया। कंट्रोल रुम में उन्होंने अधिकारियों से किसी तरह छतरपुर भिजवाने की मांग की है। उन्होंने भोजन नहीं किया था जिस पर अधिकारियों ने उनके लिए भोजन की व्यवस्था कराई। हालांकि उनके छतरपुर जाने की फिलहाल कोई व्यवस्था नहीं हो पाई है।


Powered by Blogger.