BHOPAL : ज्योतिरादित्य का एक और मास्टर स्ट्रोक, शिवराज के साथ आज जाएंगे बेंगलुरू, ये है सिंधिया का मास्टर प्लान


भोपाल. राज्यपाल लालजी टंडन द्वारा फ्लोर टेस्ट का आदेश देने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि मध्यप्रदेश में पिछले 10 दिनों से जारी पॉलिटिकल ड्रामे का सोमवार को अंत हो सकता है। जयपुर में ठहरे कांग्रेस विधायक भोपाल के लिए रवाना हो गए हैं तो दूसरी तरफ ये खबर आ रही ही कि ज्योतिरादित्य सिंधिया, मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के साथ आद बेंगलुरू रवाना होंगे और कांग्रेस के बागी विधायकों के साथ मुलाकात कर आगे की रणनीति बनाएंगे। बता दें कि राज्यपाल ने 16 मार्च को फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया है।

ज्योतिरादित्य का एक और मास्टर स्ट्रोक, शिवराज के साथ आज जाएंगे बेंगलुरू, ये है सिंधिया का मास्टर प्लान

सिंधिया जाएंगे बेंगलुरु
सूत्रों का कहना है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया आज बेंगलुरु जाएंगे और अपने समर्थक विधायकों के साथ मीटिंग करेंगे और उसके बाद आगे की रणनीति पर भी चर्चा करेंगे। इस दौरान मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान भी उनके साथ रहेंगे। शिवराज सिंह चौहान शनिवार देर रात दिल्ली पहुंच गए हैं जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया पहले से ही दिल्ली में मौजूद हैं। दोनों नेता बेंगलुरु में विधायकों के साथ मीटिंग करने के बाद आगे की रणनीति तय करेंगे। माना जा रहा है कि सिंधिया से मुलाकात के बाद कांग्रेस के बागी विधायक भोपाल लौट सकते हैं।

ज्योतिरादित्य का एक और मास्टर स्ट्रोक, शिवराज के साथ आज जाएंगे बेंगलुरू, ये है सिंधिया का मास्टर प्लान


6 विधायकों का इस्तीफा मंजूर
ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस के 22 विधायकों ने विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। सिंधिया समर्थक 19 विधायक कई दिनों से बेंगलुरू में ठहरे हुए थे। विधानसभा अध्यक्ष अमपी प्रजापति ने सिंधिया समर्थक 6 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। जिन विधायकों का इस्तीफा स्वीकार हुआ है वो कमलनाथ कैबिनेट में मंत्री भी थे। कमलनाथ की सिफारिश पर राज्यपाल ने इन्हे मंत्री मंडल से बर्खास्त कर दिया था। शनिवार रात विधानसभा अध्यक्ष ने सिंधिया समर्थक मंत्री, तुलसी सिलावट, महेन्द्र सिंह सिसौदिया, इमरती देवी, प्रद्युमन सिंह तोमर, गोविंद सिंह राजपूत और डॉ प्रभुराम चौधरी का इस्तीफा मंजूर कर लिया है।


ज्योतिरादित्य का एक और मास्टर स्ट्रोक, शिवराज के साथ आज जाएंगे बेंगलुरू, ये है सिंधिया का मास्टर प्लान


भविष्य को लेकर चिंतित हैं विधायक
सूत्रों का कहना है कि बेंगलुरू एयरपोर्ट पर सिंधिया समर्थक विधायकों से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुक्रवार को मुलाकात की थी। सूत्रों का कहना है कि कुछ विधायकों को अपने राजनीतिक भविष्य की चिंता सताने लगी थी। विधायक किसी जिम्मेदार से मिलकर यह सुनिश्चित करना चाहते थे कि कांग्रेस के विरोध पर भाजपा में उनका भविष्य सुरक्षित है या नहीं। इसी के संबंध में नाराज विधायकों ने जेपी नड्डा से मुलाकात की थी। अब खुद ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने विधायकों से मुलाकात करेंगे।

क्या है प्लान?
सूत्रों का कहना है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया इन विधायकों से मुलाकात कर आगे की रणनीति पर चर्चा कर सकते हैं। कहा जा रहा है कि ये भी प्लान है कि ये विधायक फ्लोर टेस्ट में शामिल नहीं होंगे अगर ये विधायक फ्लोर टेस्ट में शामिल नहीं होते हैं तो कमलनाथ सरकार सदन में बहुमत हासिल नहीं कर पाएगी।

क्या है विधानसभा की स्थिति
कुल विधानसभा सीटें- 230
खाली सीटें- 02 ( भाजपा-कांग्रेस विधायक के निधन के कारण )

इस्तीफा मंजूर होने के बाद विधानसभा की स्थिति
कुल विधायक- 222
भाजपा- 107
कांग्रेस- 92 ( 6 विधायकों का इस्तीफा मंजूर हो चुका है, 16 विधायकों ने इस्तीफा भेज दिया पर अभी तक मंजूर नहीं )
अन्य- 07 (4 निर्दलीय, 2 बसपा, 1 सपा )
बहुमत के लिए जरूरी सीटें- 112




Powered by Blogger.