BHOPAL : पांच मस्जिदों में ठहरे थे 57 विदेशी, हाफिज ने एक साथ छुपा रखे थे 13 लोग


भोपाल. निजामुद्दीन मरकज में भोपाल से पहुंचे 36 लोगों को लेकर की गई जांच में नया खुलासा हुआ है। इस दौरान पांच मस्जिदों से 57 विदेशी जमातों के लोग मिले हैं। फ्रांस, ब्रिटेन, कनाडा, बर्लिन, म्यांमार और इंडोनेशिया से आए लोग पांच मार्च से शहर में हैं।

प्रदेश के जो 36 लोग जमात में शामिल हुए थे। वे दिल्ली के एक अस्पताल में क्वारंटाइन में हें। इस बीच 83 लोगों की जानकारी मिली, जो प्रदेश के अन्य जिलों के हैं और 15 फरवरी के बाद अलग-अलग मस्जिदों में डेरा डाले हुए हैं। इसमें से 67 को हज हाउस या मस्जिदों में ही क्वारंटाइन कर दिया है। दिल्ली मरकज से लौटे हजारों लोगों की जब की गई तो पता चला 107 लोग मध्यप्रदेश के हैं।

हाफिज पर केस
ईंटखेड़ी पुलिस ने मस्जिद में जमात जोड़ने वाले हाफिज के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन के तहत केस दर्ज किया गया है। इसी तरह शहर के थानों में मंगलवार को लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 57 केस दर्ज हुए हैं।

सीएम ने दिए निर्देश
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उच्च स्तरीय बैठक में निर्देश दिए हैं कि दिल्ली में तबलीग जमात में हिस्सा लेने वाले प्रदेश के नागरिकों को क्वॉरेन्टाइन में रखने की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पूर्व तबलीग जमात का एक बड़ा धार्मिक आयोजन दिल्ली में हुआ था। इसमें पूरे देश के श्रद्धालु भाग लेने गए थे। इस समूह में 200 लोगों के कोविड-19 से संक्रमित होने तथा इनमें से 6 लोगों की तेलंगाना में मृत्यु होने की सूचना प्राप्त हुई है। चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश से भी 100 से अधिक व्यक्ति इस धार्मिक कार्यक्रम में सम्मिलित हुए, ऐसी जानकारी प्राप्त हुई है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में पूर्ण सजग रहने की जरूरत है।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि तब्लीग जमात में सम्मिलित मध्यप्रदेश के व्यक्तियों को चिन्हित करें तथा उन्हें क्वॉरेन्टाइन में रखकर उनका आवश्यक स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए। यह कार्यवाही सभी के हित में है। उन्होंने कहा कि उन व्यक्तियों में यदि किसी भी प्रकार की बीमारी के लक्षण दिखाई देते हैं, तो उनके टेस्ट और इलाज की समुचित व्यवस्था भी की जाए
Powered by Blogger.