BHOPAL : कोरोना वायरस का सबसे बड़ा खतरा इन सात जिलों में, 800 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा आंकड़ा


भोपाल. मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण का मामला तेजी से बढ़ता जा रहा है। 30 मार्च तक मध्यप्रदेश के 6 जिलों में कोरोना संक्रमण की पॉजिटिव पाए गए थे लेकिन कोरोना का संक्रमण प्रदेश के सात जिलों तक पहुंच गया है। इंदौर मे तेजी से बढ़ रहे संक्रमण के कारण इंदौर में तीन दिनों का सबसे सख्त लॉकडाउन भी लगाया गया है। देश के सबसे सख्त लॉकडाउन का आज तीसरा दिन है।

सात जिलों में संक्रमित
राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के 6 जिलों में संक्रमण का मामला था, लेकिन अब खरगोन जिले में भी कोरोना संक्रमण का मरीज पाया गया है। जांच के बाद उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके बाद उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है। वहीं, खरगोन में लॉकडाउन को लेकर प्रशासन पहले से ज्यादा सख्त हो गया है।

किस जिले में कितने संक्रमित
मध्यप्रदेश के इंदौर में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। इंदौर में 63, जबलपुर में 8, भोपाल में 4, शिवपुरी में 2, उज्जैन में 7, ग्वालियर में 2 और खरगोन जिले में एक पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इंदौर में कोरोना संक्रमण मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है।

800 फीसदी से बढ़ रहा आंकड़ा
सीएमएचओ ने कहा- बाहर से आने वाले नागरिक ऐसे ही आते रहे तो स्थिति नाजुक हो सकती है। सड़कों पर घुमते-फिरते लोगों को रोकना भी महत्वपूर्ण निर्णय हो सकता है। इंदौर में पूरे देश में सबसे तेज 800 प्रतिशत की दर से संक्रमण बढ़ रहा है। जिले के नागरिक अब सचेत हो जाएं।

खरगोन के मंडलेश्वर में बुजुर्ग की रिपोर्ट पॉजिटिव
खरगोन जिले के मंडलेश्वर के धार गांव के निवासी एक बुजुर्ग की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। उसे इलाज के लिए इंदौर के एमवाय अस्पताल में भर्ती किया गया है। मंगलवार देर शाम जो रिपोर्ट जारी हुई है उसमें कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई है।

तीन नए संदिग्ध
कोरोना संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य विभाग लगातार संदिग्धों की जांच कर रहा है। मंगलवार को खरगोन जिले में तीन संदिग्ध मारीज मिले हैं। इनके सैंपल लेकर जांच के लिए इंदौर भेजा गया है। सीएमएचओ डॉ रजनी डाबर ने बताया कि कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए दामखेड़ा में क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है।
Powered by Blogger.