कोरोना संक्रमण की ढील बनी मुसीबत , 24 घंटे में 2000 पर कार्रवाई, कान पकडकऱ लगवाई उठक बैठक


जबलपुर। कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन 3.0 में दी गई सशर्त ढील मुसीबत साबित हो रही है। चौराहे-तिराहे पर पर चैकिंग प्वॉइंट बनाकर की जा रही कार्रवाई भी नाकाफी साबित हो रही है। पुलिस पिछले 24 घंटों में 2000 से अधिक लोगों पर कार्रवाई कर चुकी है। इनसे जुर्माने के तौर पर 2.63 लाख रुपए का जुर्माना वसूला गया है। जानकारी के अनुसार लॉकडाउन के तीसरे चरण में सब्जी व फल के थोक मार्केट में सिर्फ ठेला वालों को ही जाने की अनुमति दी गई थी। लोग मंडियों में पहुंच रहे हैं। इससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना मुश्किल साबित हो रहा है। कई दो पहिया और चार पहिया वाहन चालक घूमने के लिए अलग-अलग हथकंडा अपना रहे हैं।

कुछ वाहनों पर अति आवश्यक सेवाओं का स्लोगन लिखकर चस्पा कर घूम रहे हैं। वहीं कुछ कोरोना फाइटर लिखाकर वाहनों पर चल रहे हैं। 21 मार्च से पुलिस लॉकडाउन के उल्लंघन पर 1713 प्रकरणों में 2073 लोगों के खिलाफ धारा 188, 269 व 270 भादवि के तहत एफआईआर दर्ज कर चुकी है। मदनमहल, त्रिपुरी चौक, कटंगा, बंदरिया तिराहा, ब्लूम चौक, बल्देवबाग, दमोहनाका में पुलिस ने कई वाहनों की हवा निकाली। पुलिस ने 370 दो पहिया वाहन जब्त किए।

शहरी सीमा प्रवेश प्वॉइंट पर सख्ती 
एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने शहरी सीमा में प्रवेश करने वाले सभी नौ प्रवेश प्वॉइंटों पर सख्ती बढ़ाने के आदेश दिए हैं। शहरी सीमा से बाहर जाने वाले और अंदर प्रवेश करने वालों से पूछताछ करने और बेवजह मिलने पर वाहन जब्त कर जुर्माना वसूलने के निर्देश दिए हैं।
Powered by Blogger.