BHOPAL : 18 मई से लगेगा LOCKDOWN : चौथे चरण में पाबंदियों पर और ज्यादा छूट



भोपाल. मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में कोरोना संक्रमण का असर लगातार बढ़ रहा है। हालात पर नियंत्रित रखने के लिए केन्द्र द्वारा लगाए लॉकडाउन का पालन किया जा रहा है। साथ ही, जिला स्तर पर कर्फ्यू या टोटल लॉकडाउन जैसी व्यवस्थाएं इलाके की गंभीरता के आधार पर लगाई गई हैं। बावजूद इसके मध्य प्रदेश के कुछ जिलों के लिए बीते तीन लॉकडाउन नाकाफी है। यहां हालात अब भी बिगड़ रहे हैं। इस संबंध में सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कांफ्रेंस के दौरान पीएम मोदी से प्रदेश में लॉकडाउन 4 लागू कराने की अपील की है। राज्य और जिले के हालात के मद्देनजर पीएम ने लॉकडाउन 4 पर सेहमति दे दी है। हालांकि, अब तक ये तय नहीं है कि, आगामी लॉकडाउन कितने दिनों का होगा।

ऐसा होगा लॉकडाउन 4

हालात को नियंत्रण में लाने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन रखना बेहद जरूरी है। सरकार को चिंता अर्थव्यवस्थाकी भी है। ऐसे में सीएम चौहान ने प्रधानमंत्री को सुझाव देते हुए कहा कि, राज्य में संक्रमण को प्रभावी ढंग से रोकने और अर्थव्यवस्था को दोबारा खड़ा करने के लिए लॉकडाउन के चौथे चरण को मिले जुले स्वरूप के साथ लागू करना जरूरी है।जहां एक तरफ संक्रमित क्षेत्र में पूरी तरह सख्ती बरती जाए, वहीं अन्य क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधियों को ठीक से चलाने लिए छूट दी जाए। चौहान ने सुझाव दिया कि, रात्रिकालीन कर्फ्यू शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक रहे। धीरे-धीरे पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू किए जाएं और जब तक हालात पूरी तरह नियंत्रण में न आएं, तब तक सभी प्रकार के उत्सव या त्योहार प्रतिबंधित रहें।


सोशल डिस्टेंसिंग भी मेंटेन रहे और अर्थव्यवस्था भी

हालांकि, इस लॉकडाउन के साथ साथ लगातार गिरती अर्थव्यवस्था को संभालना भी सरकार के लिए बड़ी चुनौती बना हुआ है। इस मुद्दे पर सीएम शिवराज ने पीएम को कुछ महत्वपूरण सुझाव भी दिये हैं। सीएम ने कहा कि, राज्य में कोरोना के संक्रमण को प्रभावी ढंग से रोकने और अर्थव्यवस्था को दोबारा पटरी पर लाने के लिए चौथे चरण के लॉकडाउन को मिले जुले स्वरूप में लागू करना होगा। ताकि, लोगों में सोशल डिस्टेंसिंग भी बनी रहे और लोगों का काम-रोज़गार भी शुरु हो सके, ताकि प्रदेश की अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट सके।

ज्यादा चिंताजनक हैं इन जिलों के हालात

आपको बता दें कि, मध्य प्रदेश राजधानी भोपाल समेत, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, खरगौन, धार, रायसेन, बुरहानपुर, खंडवा, मंदसौर, देवास, होशंगाबाद आदि जिलों में संक्रमण को लेकर हालात लगातार बिगड़ रहे हैं। ये वो जिले हैं, जहां लगातार 10 से लेकर 100 संक्रमितों तक रोजाना सामने आ रहे हैं। इन्हीं जिलों के कारण प्रदेश के हालात लगातार बिगड़ रहे हैं। इन जिलों में इन जिलों में अब तक लगाए गए तीनों लॉकडाउन पर्याप्त नहीं हैं। स्थितियों को नियंत्रण में लाने के लिए प्रदेश के रेड और ऑरेंज जोन के जिलों में लॉकडाउन के चौथे चरण की तैयारी की जा रही है।

पीएम ने दिया फ्री हैंड

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान पीएम मोदी ने शिवराज समेत देश के सभी मुख्यमंत्रियों से 15 मई से पहले जिला स्तर पर कोरोना से संबंधित हालात को लेकर खाका बनाने की बात कही है। पीएम ने कहा कि, इसी आधार पर तय किया जाएगा कि, लॉकडाउन 4 की अवधि कितनी हो। लॉकडाउन का अगला चरण 18 मई से लागू होगा। यह चरण दूसरे रूप में होगा। हालांकि, इस बार मोदी ने ये स्पष्ट कर दिया कि, लॉकडाउन 4 को राज्य सरकारें ही पूरी तरह लीड करेंगी। क्योंकि, इस बार इलाकों की परिस्थिति के आधार पर निर्णय बदलने होंगे।





Powered by Blogger.