BHOPAL : उपचुनाव नजदीक आते आते ही सिंधिया समर्थक समेत सभी नेतागण संगठन को मजबूत करने में जुटे


भोपाल । पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस और मंत्री-विधायक पद छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले नेताओं ने यहां मध्य प्रदेश भाजपा मुख्यालय में अपनी आमद बढ़ा दी है। उपचुनाव नजदीक आते देख ये नेता भी पार्टी पदाधिकारियों से नजदीकियां बढ़ाने लगे हैं। मंत्री तुलसी सिलावट के समर्थकों के भाजपा में प्रवेश के बाद शनिवार को पूर्व मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी के समर्थकों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने उन्हें सदस्यता दिलाई।

मुख्यमंत्री व प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित दल है। हम मिलकर संगठन को और मजबूत करेंगे। आप सभी लोग पूरी ताकत से सांची विधानसभा को विजयी बनाने में जुटें। 200 कार्यकर्ता पहुंचे कार्यालय भाजपा प्रदेश मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान सांची विधानसभा व रायसेन नगर व ग्रामीण क्षेत्रों के करीब 200 कार्यकर्ताओं ने शारीरिक दूरी का पालन करते हुए भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर पूर्व मंत्री चौधरी एवं रामपाल सिंह विशेष रूप से उपस्थित थे।

बड़े लक्ष्य के लिए परिवर्तन

मुख्यमंत्री इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा, 'कमल नाथ सरकार के दौरान वल्लभ भवन (मंत्रालय) दलालों का अड्डा बन गया था। कांग्रेस सरकार का सिर्फ एक काम था किसी तरह लूट खसोट की जाए। 15 महीने के कार्यकाल में हजारों करोड़ के घोटाले करने वाली कमल नाथ सरकार ने गरीबों के हक पर डाका डालने का काम किया।

जनता की भलाई के लिए सिंधियाजी और उनके समर्थक विधायकों ने त्याग की मिसाल पेश की। प्रदेश को बचाने के लिए त्याग का अनुपम उदाहरण डॉ. प्रभुराम चौधरी ने पेश किया। उन्होंने मंत्री पद त्यागकर सत्य का साथ दिया। बड़े लक्ष्य के लिए मप्र में परिवर्तन हुआ। जिस तरह दूध में शकर मिल जाती है ठीक वैसे ही हम मिलकर काम करेंगे।

सांची के विजय अभियान में जुटें

शर्मा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित दल है, यहां पर भले ही शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री और मैं प्रदेश अध्यक्ष के दायित्व में हूं लेकिन हम सब कार्यकर्ता की भूमिका में हैं। भाजपा को मजबूत करने हम सभी परिश्रम की पराकाष्ठा करेंगे। कांग्रेस आरोप-प्रत्यारोप करेगी, लेकिन हमें मुखरता के साथ जवाब देना है। सांची की विजय सुनिश्चित करने के अभियान में जुट जाएं।

शारीरिक दूरी का पालन नहीं, मोदी के निर्देश की धज्जियां

रायसेन जिले के कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भाजपा की सदस्यता दिलाने के दौरान भाजपा ने भले ही शारीरिक दूरी का पालन करने का दावा किया हो लेकिन ऐसा नजर नहीं आया। सभी कार्यकर्ता आपस में चिपककर गलबहियां किए हुए खड़े थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के दौरान राजनीतिक कार्यक्रम न करने के निर्देश दिए हैं लेकिन भाजपा मुख्यालय में इसका भी पालन नहीं हुआ। जबकि भोपाल और रायसेन दोनों जिले कोरोना संक्रमण को लेकर संवेदनशील हैं।

क्या लॉकडाउन नियम सिर्फ आमजन के लिए

इधर, पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने भाजपा कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम को लेकर ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लॉकडाउन के नियम को लेकर सवाल किया है कि क्या ये नियम सिर्फ गरीब और आमजन के लिए हैं? उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि क्या आपकी पार्टी के नेताओं पर यह नियम लागू नहीं होते हैं? जब शादी समारोह हो या गमी हो सभी के लिए संख्या तय है तो भाजपा कार्यालय के कार्यक्रम में नियम का उल्लंघन किए जाने पर जल्द कार्रवाई की जाए।



Powered by Blogger.