CBSE EXAMS : कॉपियां जांचने की तैयारियां शुरू, ऐसे जारी होगा RESULT



सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं के बचे हुए विषयों की परीक्षा करवाने का ऐलान कर दिया है। ये परीक्षाएं 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच आयोजित करवाई जाएंगी। इसके साथ ही रिजल्टको लेकर भी तैयारी शुरू हो गई है। ताजा खबर यह है कि ग्रीन जोन वाले क्षेत्रों में कॉपी जांचने का काम जल्द शुरू हो सकता है। क्एच्क के अनुसार, जिन क्षेत्रों में कोरोना वायरस का एक भी केस सामने नहीं आया है, वहां कॉपी जांचने का काम शुरू किया जा सकता है। इसके अलावा टीचर्स के घर भेज कर भी कॉपी चेक करवाने की प्लानिंग हो रही है।

RESULTS के लिए अब तक हो चुकी यह तैयारी

अब तक की तैयारी के अनुसार, प्रत्येक क्षेत्र के प्रमुख नोडल पर्यवेक्षक स्थानीय प्रशासन के साथ काम करेंगे। यदि इलाका ग्रीन जोन में है तो मूल्यांकन का काम शुरू होगा। प्रत्येक नोडल अधिकारी को 200 उत्तर पुस्तिकाओं से भरे बैग इकट्ठा करने होंगे। नोडल अधिकारी ही मूल्यांकनकर्ताओं के घर तक बैग पहुंचाएंगे और मूल्यांकन होने के बाद उन्हें वापस लेंगे। वाहनों की व्यवस्था के लिए भी वो ही जिम्मेदार होंगे। बैग को बोर्ड तक पहुंचाने से पहले उन्हें आधार कार्ड, पैन कार्ड और स्कूल आईडी कार्ड की तस्वीर भी लेनी होगी। मूल्यांकनकर्ताओं के पास उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन करने के लिए केवल 7 दिन होंगे।

नए सत्र से पहले रिजल्ट

कोरोना वायरस ने सीबीएसई का इस साल का पूरा कार्यक्रम गड़बड़ा दिया है। पूर्व में घोषित कार्यक्रम के अनुसार, सीबीएसई कक्षा 10 की परीक्षाएं 20 मार्च तक समाप्त होनी थीं, कक्षा 12 के लिए अंतिम परीक्षा 30 मार्च को निर्धारित की गई थी। हालांकि, कोरोनो वायरस के कारण परीक्षाएं स्थगित करना पड़ीं। क्एच्क कक्षा 12 बोर्ड की परीक्षाएं प्रवेश-आधारित और मेरिट-आधारित कॉलेज प्रवेश परीक्षा, दोनों के लिए आवश्यक हैं। इस तरह सत्र शुरू होने से पहले परिणाम घोषित होने की संभावना है। यूजीसी के अनुसार, नया सत्र सितंबर में शुरू होगा। आमतौर पर सत्र जुलाई से शुरू होते हैं, लेकिन महामारी ने इस प्रक्रिया पर भी असर डाला है।


Powered by Blogger.