CM शिवराज की विशेष पहल से रीवा पहुंचे 1043 प्रवासी मजदूर : खुशी से खिले उठे चेहरे


रीवा. कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण पूरे देश में 25 मार्च से लॉकडाउन की स्थिति है। जिसके कारण रीवा संभाग के विभिन्न जिलों के हजारों मजदूर अन्य प्रदेशों में फंसे हुए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की विशेष पहल पर केन्द्र सरकार एवं रेलवे द्वारा इन मजदूरों को घर वापसी की नि:शुल्क सुविधा दी जा रही है। प्रवासी मजदूरों को लेकर रीवा आने वाली विशेष श्रमिक ट्रेनों के आने का क्रम जारी है। जिले में 11 मई को ठाणे-मुंबई, महाराष्ट्र से विशेष ट्रेन पहुंची। इससे 1043 मजदूर रीवा पहुंचे। घर पहुंचने की खुशियों के साथ रीवा रेलवे स्टेशन पहुंचने वाले इन सभी प्रवासी मजदूरों को रीवा सहित अन्य जिलों में भेजने के लिए विशेष वाहनों से व्यवस्था की गई।

इटारसी स्टेशन में उतारा गया

कलेक्टर बसंत कुर्रे ने बताया कि ठाणे से 10 मई को चली विशेष ट्रेन से महाराष्ट्र सरकार द्वारा 1252 मजदूर भेजे गए इनमें से 141 मजदूरों को इटारसी स्टेशन में उतारा गया। शेष 1043 मजदूर 11 मई को शाम में रीवा पहुंचे। इसमें रीवा जिले के 500, सतना के 213, सीधी के 230, सिंगरौली के 23, पन्ना के 40, डिंडौरी के 23, अनूपपुर के 6, शहडोल के 7 तथा उमरिया जिले के एक प्रवासी मजदूर के साथ 68 अन्य लोग रीवा पहुंचे। सभी मजदूरों के स्वास्थ्य की जांच कराकर उन्हें निर्धारित बसों से संबंधित जिलों को भेजा गया।

गंतव्य तक पहुंचाया गया

रीवा जिले के मजदूरों को संबंधित एसडीएम द्वारा तैनात टीम एवं विशेष वाहनों से उनके गंतव्य तक पहुंचाया गया। इस पूरी कार्यवाही को अंजाम देने में अपर कलेक्टर इला तिवारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवकुमार वर्मा, एसडीएम हुजूर, फरहीन खान, परिवहन अधिकारी मनीष त्रिपाठी तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने महत्वपूर्ण योगदान दिया।




Powered by Blogger.