नाई की दुकानें खुलते ही टूट पड़े लोग, नियमों की उड़ी धज्जियां, फैसले पर उठे सवाल : LIQUOR SHOP


लॉकडाउन नए सिरे से लागू होने के साथ ही देशभर में रेड, ऑरेज और ग्रीन जोन के हिसाब से नई व्यवस्था लागू हो गई। ग्रीन और ऑरेज जोन में Liquor Shop यानी शराब दुकान खोलने की अनुमति गई है। इसके बाद सुबह से ही इन दुकानों के बाहर लंबी-लंबी लाइनें देखी गईं। कर्नाटक से लेकर दिल्ली, महाराष्ट्र, केरल और छत्तीसगढ़ से ऐसी तस्वीरें आई हैं। दिल्ली में कई किमी लंबी लाइनें नजर आईं। यहां लाठीचार्ज भी करना पड़ा। वहीं ग्रीन और ऑरेज जोन में नाई की दुकानें भी सोमवार से खुल गईं। बीते करीब डेढ़ महीने से घरों में कैद लोग अपनी कटिंग और शेविंग बनवाने पहुंच रहे हैं। हालांकि सभी दूर फिजिकल डिस्टेंसिंग यानी शारीरिक दूरी का पालन हो रहा है और लोग मास्क लगाकर पहुंच रहे हैं। जहां-जहां भारी अव्यवस्था नजर आई, वहां सवाल उठाए जा रहे हैं कि महामारी रोकना जरूरी है या शराब दुकानें खोलना। 


हल्‍द्वानी के सरस मार्केट के पास शराब की दुकान खुलते ही सैकड़ों खरीदारों की भीड़ उमड़ पड़ी। लोग फिजिकल डिस्‍टेंसिंग का भी ख्‍याल नहीं रख रहे हैं। शहरवासियों की मानें तो शराब के लिए पहली बार हल्‍द्वानी में ऐसी भीड़ दिख रही है।

छत्तीसगढ़ में उड़ीं नियमों की धज्जियां

शराब की दुकानें खुलने पर छत्तीसगढ़ में सारे नियम ताक में रख दिए गए। शारीरिक दूरी के नियमों की परवाह किए बगैर लोग शराब की दुकानों के बाहर भारी भीड़ के रूप में जमा हो गए।

गोवा में खुले सेलून

गोवा के पणजी में सेलून खुल गए। यहां लोग नियमों का पालन करते हुए दुकानों पर पहुंच रहे हैं और दुकानदार भी पूरी सावधानी बरतते हुए सेवाएं दे रहे हैं।

कइयों ने की शराब, सिगरेट और गुटखा से तौबा

अच्छी बात यह है कि लॉकडाउन की लक्ष्मण रेखा लोगों लिए वरदान बन गई है। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के साथ ही नशे की आदत को भी लॉकअप में बंद कर दिया। ज्यादा तलब लगने का खास समय निकल चुका है। इसमें कई लोग तो ऐसे हैं जो आदत के आगे मजबूर थे, लेकिन बाद में इरादे दृढ़ कर लिए और दुनिया उनकी बदल गई। लोगों के साथ ही उनका परिवार अब अच्छा महसूस कर रहा है।
Powered by Blogger.