REWA : 2 साल की बच्ची की अपहरण के बाद हत्या, स्वजनों पर ही हत्या का संदेह


रीवा . जिला मुख्यालय से करीब 70 किमी दूर स्थित मऊगंज थाना क्षेत्र के पटेहरा गांव में दो वर्षीय बच्ची की अपहरण कर हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पुलिस ने स्वजनों का बयान दर्ज कर मामले की विवेचना शुरू कर दी है। घटना शनिवार की है। पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए एफएसएल की मदद भी ली है।

पुलिस अधीक्षक मऊगंज गोपाल खंडेल ने बताया कि शनिवार सुबह पटेहरा निवासी प्रमोद पटेल घर से भैंस लेकर नदी गए थे। इसी बीच स्वजनों ने उन्हें मोबाइल पर सूचना दी कि उनकी दो वर्षीय पुत्री अंशी घर से लापता है। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे प्रमोद पटेल ने पहले स्वजनों के साथ मिलकर अंशी की खोजबीन की। जब अंशी का कहीं पता नहीं चला तो उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस व स्वजन लगातार अंशी की तलाश करते रहे। तकरीबन 10 घंटे चली तलाश के दौरान अंशी का कोई पता नहीं चला।

शनिवार की रात तकरीबन 10 बजे तलाश के दौरान पुलिस ने घर के ही पास परिवार के दूसरे आंगन में रखे भूसे के ढेर में अंशी का शव बरामद कर लिया। पुलिस ने प्रथमदृष्टया हत्या का मामला मानकर विवेचना शुरू कर दी है। चेहरे पर मिले कातिल की अंगुली के निशान एफएसएल टीम के डॉ.आरपी शुक्ला ने बताया कि अंशी के चेहरे पर कातिल के अंगुलियों के निशान मिले हैं। उन्होंने बताया कि अपहरण के बाद अंशी की हत्या मुंह व गला दबाकर की गई है।

हालांकि अभी पुलिस को पीएम रिपोर्ट नहीं मिली है। शार्ट पीएम रिपोर्ट में हत्या के पीछे का कारण दम घुटना बताया जा रहा है। मौके पर मिले साक्ष्य व भूसे के आसपास पुलिस को कुछ सबूत भी हाथ लगे हैं।

स्वजनों पर संदेह
साक्ष्य व घटना स्थल को देखकर पुलिस स्वजनों पर ही हत्या का संदेह कर रही है। पुलिस का मानना है कि अगर अंशी घर के सामने खेल रही थी और अचानक लापता होने के बाद उसका शव घर के पास परिवार के ही दूसरे घर में मिलना इस बात की ओर इशारा कर रहा है कि हत्या के पीछे स्वजन शामिल हो सकते हैं। इनका कहना है

दो वर्षीय मासूम की अपहरण कर हत्या की गई है। मौके पर मिले साक्ष्य के आधार पर विवेचना की जा रही है।बच्ची की मौत दम घुटने से हुई है। स्वजनों पर ही संदेह है।
गोपाल खंडेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, मऊगंज, रीवा
Powered by Blogger.