REWA : रीवा वासियों के लिए राहत भरी खबर , बाहर से आए 360 श्रमिकों की रिपोर्ट निगेटिव : 24 की आना बाकी


रीवा. प्रदेश के बाहर स आने वाले लोगों में कोरोना लक्षण मिलने लगे हैं। बुधवार को रीवा पहुंचे श्रमिकों का जिला अस्पताल में स्वास्थ्य चेकअप कराया गया। जिसमें दर्जनभर से अधिक कोरोना संदिग्धों का सैंपल लिया गया है। जिला अस्पताल में सैंपल के दौरान सूरत से आए एक श्रमिक परिवार के डेढ़ साल के बच्चे में लक्षण मिलने पर आइसीयू में भर्ती किया गया है।

आइसीयू के वेंटीलेटर में कराह रहा बच्चा 
जीएमएच में पीडियाटिक विभाग के डॉ एके बजाज ने बताया कि मनगवां क्षेत्र के अतरी गांव का एक श्रमिक परिवार सूरत में रहता है। बुधवार को लौटने के बाद जिला अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है। जिला अस्पताल से संजय गांधी में रेफर कर दिया गया है। डेढ़ साल के बच्चे में कोरोना के लक्षण मिले हैं। निमोनिया के साथ ही बुखार है। तबियत अधिक खराब होने पर कोरोना वार्ड में वेंटीलेटर पर रखा गया है। जांच सैंपल लैब भेजा गया है। देररात या फिर गुरुवार की सुबह रिपोर्ट आने के बाद जानकारी हो सकेगी कि पॉजिटिय है या फिर निगेटिव है।

अब तक 360 की रिपोर्ट निगेटिव 
जिला अस्पताल में सीएमओ ने बुलेटिन जारी कर बताया कि बुधवार को 23 कोरोना संदिग्धों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। अब तक कुल 362 लोगों का सैंपल लिया जा चुका है। जिसमें आज भी 16 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। अब तक कुल 360 जांच सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव है। अभी 24 की रिपोर्ट आना बाकी है। 

हिमांचल से नईगढ़ी पहुंचा कोरोना संदिग्ध
जिले के नईगढ़ी सीएचसी के बीएएमओ डॉ आरके पाठक ने बताया कि क्षेत्र के भीर गांव निवासी एक युवक हिमांचल प्रदेश से मंगलवार की शाम घर आया। बुधवार की सुबह परिवार का एक युवक जांच कराने के लिए अस्पताल आया। अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान 100 से अधिक टंप्रेचर था। इसके अलावा शरीर में दाने निकले थे। लक्षण मिलने पर संदिग्ध के रूप रीवा सूचना भेजकर एम्बुलेंस बुलाई। साथ में आए युवक कान्टेक्ट में होने के कारण उसकी भी जांच की गई। उसका भी टंप्रेचर 99 था। दोनों युवकों को एम्बुलेंस से रीवा भेजा दिया गया है। सैंपल लेने के बाद दोनों आइसोलेशन वार्ड में रख दिया गया है।


Powered by Blogger.