REWA : CM शिवराज के दावे फेल भूख से मर रहे हैं लोग : गुरमीत सिंह मंगू


पीएम मोदी जी और उनके मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी ने जनता से वादा किया कि लाख डाउन दौरान कोई भी भूख से नहीं मरेगा बावजूद इसके की कोरोना नामक महामारी के प्रकोप से कम भुखमरी से लोग अधिक मर रहे हैं उक्त विचार जिला शहर कांग्रेस अध्यक्ष गुरमीत सिंह मंगू ने जारी विज्ञप्ति के माध्यम से व्यक्त किया।

शहर कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा कि प्रदेश सहित देश के जो हालात आज हैं उसके जिम्मेदार मोदी और शिवराज सरकार की नीति है, उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह जी की भूख तो सत्ता हड़पने से खत्म हो गए किंतु प्रदेश की जनता की हालात यह है कि वह रोटी की तड़फ से मौत को गले लगाने पर मजबूर है, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी भले ही यह दावा करें कि कोरोना से निपटने सरकार ने युद्ध स्तर से कार्य कर रही है किंतु हकीकत भोपाल व इंदौर जैसे विकास के अग्रणी महानगर ही जवाब दे रहे हैं ।

मंगू ने गत दिनों रीवा गोड़हर के पास भूख से तड़प रहे लावारिस व्यक्ति की वेदना समाचार पत्रों में प्रकाशित होने पर चिंता जाहिर करते कहा कि उक्त घटना से स्पष्ट होता है कि शिवराज सरकार गरीब मजदूर किसान के प्रति कितनी गैर जिम्मेदार है, उन्होंने यह भी कहा कि देश व प्रदेश में लाकडाउन दौरान जो भी मौतें हो रही हैं उनमें अधिकांश मौतें भूखमरी से ही हो रही हैं क्योंकि खाली पेट सैकड़ों किलोमीटर तक पैदल चलने वाले मजदूर ही मौत के अधिक शिकार हो रहे हैं उक्त मौतों की निष्पक्ष जांच यदि मोदी सरकार कराएं तो इसका खुलासा भी जनता के सामने हो जाएगा।

कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि रीवा में भारतीय जनता पार्टी का कब्जा है आठ विधायक व सांसद जनता ने उन्हें निर्वाचित करके दिया इसके बावजूद रीवा के लोगों को शिवराज सरकार के नेतृत्व में खाने के लिए ना भोजन का प्रबंध है ना ही बीमारी से निपटने के लिए सही संसाधन, जिले के हजारों से अधिक लोग देश के अन्य प्रांतों में फंसे हुए हैं रोजगार छीनने से भूखमरी की तड़प उन्हें परेशान किए हुए लोग अपने गृहग्राम लौटने के लिए गुहार लगा रहे हैं फिर भी सरकार व प्रशासन उन्हें लाने के लिए कोई इंतजाम सही ढंग से अभी तक नहीं की लिहाजा लोगों को पैदल या ट्रकों में जानवरों की तरह आना पड़ रहा है जो प्रदेश के लिए चिंता का विषय है, उन्होंने शीघ्र मुख्यमंत्री से अपना वादा भूख से कोई भी नहीं मरेगा को पूर्ण करने की मांग करते हुए कहा कि प्रदेश के सभी गरीब मजदूर किसानों को राहत राशि व उनके परिवार के जीवन यापन के लिए आवश्यक खाद्यान्न घर-घर पहुंचाने की व्यवस्था करें अन्यथा प्रदेश के हालात खराब होंगे।

Powered by Blogger.