REWA में मिला चौथा कोरोना पॉजीटिव मरीज : मंडराने लगे संकट


रीवा. देश में कोरोना कम होने का नाम नहीं ले रहा है। रीवा में भी अब तक कोरोना पॉजिटिव की संख्या चार पहुंच गई। प्रदेश के बाहर से आ रहे श्रमिकों की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आने लगी है। कोरेाना केयर सेंटर से लेकर गांव-गांव में पहुंचे लोगों के बीच खतरा मंडराने लगा है। दो दिन के भीतर दो कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढऩे के बाद चिकित्सकों समेत पुलिस, राजस्व अमला की चिंता बढ़ गई है।

कोरोना पॉजिटिव के साथ मन में बढ़ी धुकधुकी 
रीवा में सबसे पहला केस डॉ राजेश सिंघल हुए। कंट्रैक्ट हिस्ट्री की जांच की गई। जिसमें डॉक्टर की बेटी तनीषा व बहन सरिता को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। दोनों को एसजीएम में भर्ती कराया गया। डॉ. सिंघल की बेटी की तीसरी जांच भी पॉजिटिव हुई है। जबकि बहन की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इससे जहां रीवा के लोगों को राहत की सांस ली, वहीं दूसरी ओर मुंबई से आए दो अलग-अलग श्रमिकों में कोरोना पॉजिटिव ने जिले के लोगों के मन की धुकधुकी बढ़ा दी है।

सूरत से रीवा आ रही बस में लिफ्ट लेकर आया कोरोना पॉजिटिव
आठ मई को दो अलग-अलग श्रमिकों की स्क्रीनिंग के दूसरे दिन रिपोर्ट कोरोना आई तो जिले में हडकंप मच गया। श्रमिक नरेन्द्र कुशवाहा मुंबई से पैदल घर के लिए निकला। पीथपुर पहुंचा तो सूरत से श्रमिकों को लेकर रीवा आ रही बस में लिफ्ट लेकर रीवा पहुंच गया। सतना निवासी कुशवाहा की रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही अफरा-तफरी मच गई। दूसरे दिन त्योंथर के चदई गांव निवासी मुकूलाल की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो हडक़ंप मच गया।

अब तक 60 हजार की हो चुकी स्क्रीनिंग 
जिले में प्रदेश के बाहर से अब तक 30 हजार से अधिक श्रमिक एक सप्ताह के भीतर आए। इसके अलावा इतनी ही संख्या में लॉकडाउन के दौरान गांव-गांव पहुंचे लोगों की स्क्रीनिंग की गई। कुल मिलाकर 60 हजार से अधिक श्रमिक हो गए। जिनकी अब तक स्क्रीनिंग की जा चुकी है। हिस्ट्री संदिग्ध होने पर जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा गया। सप्ताहभर में अब तक दो लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े में अब तक 30 हजार से अधिक श्रमिकों की स्क्रीनिंग सप्ताहभर के भीतर हुई।


Powered by Blogger.