REWA : बिजली की आपूर्ति तीसरे दिन जिले के कई हिस्सों में रही बाधित, दिन भर मरम्मत में जुटी रही टीमें


रीवा। तेज तूफान की वजह से जिले भर में बिजली की सामग्री का बड़ा नुकसान हुआ है। तीन दिन से लगातार मरम्मत का कार्य चल रहा है लेकिन अब तक पूरी तरह से बिजली सप्लाई बहाल नहीं की जा सकी है। शहर से लेकर गांव तक तूफान की वजह से यह तबाही हुई है। नुकसानी का वास्तविक आंकलन नहीं हो सका है। विद्युत वितरण कंपनी ने मुख्यालय को अनुमानित नुकसान की जानकारी भेजी है। जिसमें करीब 50 लाख रुपए की लागत वाले खंभे, तार और केबिल टूटने से नुकसान हुआ है।

कंपनी के अधीक्षण यंत्री ने जिले भर के सभी डिवीजन के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि हर नुकसानी का विस्तृत ब्यौरा तैयार कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। कहा जा रहा है कि इसका आंकलन करने में अभी सप्ताह भर का समय लग सकता है। इसके अलावा विद्युत वितरण कंपनी को राजस्व का नुकसान भी हो रहा है। बिजली सप्लाई बाधित होने के कारण अनुमान लगाया गया है कि इस अवधि में हर दिन ५० लाख यूनिट की खपत जिले भर में होती।

इससे करीब डेढ़ करोड़ रुपए हर दिन की दर से नुकसान हुआ है। 28 मई को सायं करीब पांच बजे से जिले भर की बिजली सप्लाई ठप रही और दूसरे दिन भी कुछ ही जगह आपूर्ति बहाल हो सकी। इसी तरह तीसरे दिन भी करीब ७० फीसदी क्षेत्रों में ही बिजली की आपूॢत बहाल हो सकी है। जबकि इसमें भी पूरे दिन रुक रुककर बिजली की सप्लाई होती रही। इस तरह से कंपनी के अधिकारियों का मानना है कि करीब चार करोड़ रुपए से अधिक के राजस्व का नुकसान हो चुका है।

मेंटेनेंस के लिए जिले भर में उतारी गई टीमें
तूफान की रफ्तार इतना अधिक थी कि शहर के साथ ही जिले के हर हिस्से से बिजली सप्लाई सामग्री का नुकसान हुआ है। खंभों के टूटने के साथ ही कई जगह पेड़ तार और केबिल पर टूटकर गिरे हैं, जिससे बड़ा नुकसान हुआ है। इस सामग्री की मरम्मत के लिए जिले भर में टीमें उतारी गई। बताया गया है कि कई जगह विद्युत वितरण कंपनी के कर्मचारियों की संख्या कम होने की वजह से अस्थाई रूप से श्रमिकों का भी सहारा लिया गया और पेड़ों को हटाने का कार्य किया गया।

शहर के कई हिस्सों में 48 घंटे से अधिक समय तक बिजली कटी
तेज तूफान के कारण शहर के कई प्रमुख हिस्सों में 48 घंटे से अधिक समय तक बिजली लगातार गुल रही। इसमें चिरहुला, बदरांव, जोरी, से लेकर कुठुलिया, बिछिया का आधा हिस्सा आदि परेशान हुआ। इसी तरह न्यू बस स्टैंड के पास भी कई मोहल्लों में बिजली की समस्या बनी रही। वहीं शहर के दूसरे हिस्से में पडऱा, ढेकहा के आसपास भी लगातार बिजली गुल रही। नेहरू नगर के हिस्से में करीब 35 घंटे के बाद बीती रात बिजली आई लेकिन सुबह से फिर कटौती होने लगी। देर शाम तक रुक रुककर यह कटौती जारी रही। देर रात बिजली कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि शहर में सप्लाई हर जगह बहाल हो गई है।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी आपूर्ति हुई बहाल
जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कई जगह तेज आंधी की वजह से बिजली की आपूर्ति बाधित हुई थी। बताया गया है कि रायपुर कर्चुलियान, सगरा, बैकुंठपुर, डभौरा, जवा, नईगढ़ी, हनुमना, गोविंदगढ़, मनिकवार आदि के क्षेत्रों में बिजली की आपूर्ति बाधित हुई थी। इनमें से अधिकांश जगह अब सप्लाई बहाल करने का दावा किया गया है। कुछ जगह स्थानीय समस्याओं का हवाला देकर कहा गया है कि वहां पर भी आपूर्ति बहाल की जा रही है।

तूफान के कारण करीब ५० लाख रुपए से अधिक का नुकसान हुआ है। हर जगह से विस्तृत रिपोर्ट तैयार करा रहे हैं। आपूर्ति भी बड़ी लाइनों की प्रारंभ हो गई है। कुछ हिस्सों में जहां स्थानीय स्तर की समस्याएं हैं उनके लिए टीमें लगी हुई हैं। प्रयास है कि पहले की तरह बिजली आपूर्ति जल्द बहाल की जाए। 
जीडी त्रिपाठी, अधीक्षण यंत्री विद्युत वितरण कंपनी

शहर के कई हिस्सों में पानी की नहीं हुई सप्लाई, लोग परेशान
बिजली समस्या के कारण फिल्टर प्लांट दो दिन से बंद होने के कारण बनी समस्या
रीवा। शहर में पेयजल सप्लाई एक बार फिर बाधित हुई है। तेज हवा की वजह से कई जगह बिजली के खंभे और तार टूटे होने के कारण शहर के तीनों फिल्टर प्लांट समय पर प्रारंभ नहीं हो सके। इसका असर मोहल्लों में पानी की सप्लाई पर भी पड़ा। बताया गया है कि रानीतालाब और अजगरहा का फिल्टर प्लांट तो कुछ देर के लिए चला, जिसके चलते वहां से टंकियों तक पानी पहुंचा लेकिन कुठुलिया के फिल्टर प्लांट में सुबह कुछ देर चलने के बाद देर शाम तक बिजली ठप रही। इस कारण सुबह के साथ ही सायं भी पानी की सप्लाई मोहल्लों में ठीक से नहीं हो सकी। तीन दिन पहले तेज हवा की वजह से शहर की बिजली आपूर्ति ठप हो गई थी। कुछ हिस्सों में बीती रात सप्लाई बहाल की गई लेकिन अधिकांश ऐसे क्षेत्र रहे जहां पर सप्लाई की बहाली नहीं हो सकी। नगर निगम द्वारा टैंकर भी पर्याप्त संख्या में नहीं भेजे जा सके, क्योंकि टंकियां खाली होने के कारण पानी टैंकरों में नहीं भरा जा सका। कुठुलिया के फिल्टर प्लांट से शहर के आधे हिस्से में पानी की सप्लाई होती है, इस कारण लोगों को अधिक परेशानी हुई है।

गर्मी के चलते परेशान हुए लोग
भीषण गर्मी के कारण पानी की आवश्यकता अधिक होती है। दो दिन से लगातार बिजली की सप्लाई बाधित होने से पानी की सप्लाई भी नहीं हो पा रही थी। शहर के उन क्षेत्रों में भी लोगों को परेशानी हुई, जहां पर घरों में ही बोरिंग है। बिजली की कटौती के कारण वह पानी नहीं भर पाए। कुछ मोहल्लों में दोपहर के समय रुक रुककर बिजली आती रही, इस कारण उन मोहल्लों में पानी की अधिक समस्या नहीं हुई। जिनके यहां व्यवस्था नहीं थी, उन्होंने आसपास के लोगों के यहां से सहयोग लिया है।


तेजी से बढ़ता REWA NEWS MEDIA
पढ़े ताजा ख़बरें, अभी Like करें और हमसे जुड़ें


Powered by Blogger.