REWA : दूसरे राज्य में फँसे मज़दूरों से शिवराज सरकार वसूल रही पैसे, दो बसें जप्त

                                   

रीवा। दूसरे प्रांत में फंसे यात्रियों को वापस पहुंचाने के एवज में अवैध वसूली हो रही है। यात्रियों से मनमाने रुपए लेकर घर तक पहुंचाया जा रहा है। हालत यह है कि मजदूर घर पहुंचने के लिए कर्ज लेकर वाहन ऑपरेटरों को रुपए अदा कर रहे हैं। गुजरात से फंसे लोगों को दो बसों जीजे 05 बीटी 9744 व जीजे 5 बीटी 2244 से रीवा लाया गया था।
दोनों बसों में ५०-५० लोग सवार थे। बस में सवार यात्रियों से बस ऑपरेटरों ने मनमाने दो से तीन हजार रुपए वसूल किए थे। मजबूरी में फंसे यात्रियों ने कर्ज लेकर ऑपरेटर को रुपए अदा किया और किसी तरह घर पहुंचे। इसका खुलासा उस समय हुआ जब रीवा में पहुंचे दोनों बसों के यात्रियों ने हंगामा करना शुरू कर दिया और बस ऑपरेटर के द्वारा मनमानी रुपए वसूलने की जानकारी प्रशासनिक अधिकारियों को दी।


इस दौरान आरटीओ मनीष त्रिपाठी ने अमले के साथ बासपास पर घेराबंदी बर दोनों बसों को जब्त कर लिया। उन्हें कंट्रोल रूम में खड़ा करवा दिया गया है। आरटीओ ने बस ड्राइवर से पूछताछ की तो उसने यात्रियों से रुपए वसूलने की जानकारी दी। हालांकि रुपए गुजरात में बस ऑपरेटर ने वसूल किए थे जिसके बाद वे सवारियों को लेकर रीवा आ गए।
परिवहन विभाग अब बस ऑपरेटरों के खिलाफ जुर्माने की कार्रवाई कर रहा है। दरअसल, शासन द्वारा दूसरे प्रांतों में फंसे लोगों को नि:शुल्क घर वापस लाने के दावे किए गए थे लेकिन बस ऑपरेटरों द्वारा यात्रियों की मजबूरी का फायदा उठाकर उनसे रुपए वसूल किउ जा रहे हैं।
गुजरात से दो बसें सवारियों को लेकर रीवा आई थी। सवारियों द्वारा रुपए वसूलने की जानकारी दी थी जिस पर दोनों बसों को जब्त कर लिया गया है। उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। दोनों बसों में पचास-पचास लोग सवार थे।
मनीष त्रिपाठी, आरटीओ 
यात्रियों से दो व तीन हजार रुपए लिए गए हंै। ये रुपए उनसे गुजरात में ही लिए हंै। बस मालिक के द्वारा यह वसूली कराई गई है। उसके बाद हम लोग बस लेकर रीवा के लिए निकले थे।
दीपक, बस ड्राइवर 
मालवाहक एवं यात्री वाहनों की होगी जांच
महीनेभर बाद अब फिर से आरटीओ चेकपोस्ट पर मालवाहक एवं यात्री वाहनों की जांच शुरू की जाएगी। इस संबंध में परिवहन आयुक्त ने आदेश जारी कर दिया है।
परिवहन अधिकारी रीवा मनीष त्रिपाठी ने बताया कि परिवहन आयुक्त के आदेशानुसार अब जिले के सभी चेकपोस्टों पर ऐसे वाहनों की जांंच की जाएगी जिनमें मनमानी सवारी भर रखी होंगी।
ऐसे वाहनों के विरूद्ध चालानी कार्रवाई की जायेगी। साथ ही जिन मालवाहक वाहनों पर ओवरलोड माल भरा पाया जायेगा उन पर शासन के द्वारा निर्धारित जुर्माना वसूल किया जायेगा। वाहनों के दस्तावेज चेक किये जाएंगे।

Powered by Blogger.