ALERT : मध्यप्रदेश में अगले 24 घंटे में हो सकती है जोरदार बारिश


जबलपुर। दक्षिणी-पश्चिमी मानूसन सेामवार को पड़ोसी नरसिंहपुर और उमरिया जिले तक पहुंच गया। मानसून के दहलीज तक पहुंचने के बाद रात में कुछ स्थानों पर बारिश हुई। इससे पहले साोमवार को सुबह मानसून के सिवनी में प्रवेश के बाद हवा की दिशा में परिवर्तन हो गया।

आज शहर पहुंच सकती है मानसूनी बादलों की खेप
नरसिंहपुर में दस्तक के बाद हवा की गति धीमी पड़ गई। इससे अच्छी बारिश वाले काले बदरा की खेप पहुंचने में समय लग रहा है। हालांकि एक द्रोणिका और लोकल सिस्टम के सक्रिय होने से हल्के बादल आसमान में लगातार बने हुए हैं। स्थानीय बादलों सेे सोमवार को शाम को अधारताल सहित शहर के कुछ हिस्सों में मामूली बूंदाबांदी हुई है। बादलों के मंडराने और बूंदाबांदी से उमस बढ़ गई। उमस के कारण चिपचिपी गर्मी हुई। शहर में हल्के बादलों का डेरा बना रहने से सोमवार को पारे की चाल में बेहद मामूली परिवर्तन आया। मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार सोमवार को अधिकतम तापमान 33 डिग्री और न्यूनतम तापमान 25.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आद्र्रता सुबह के समय 84 प्रतिशत और शाम को 67 प्रतिशत रेकॉर्ड की गई है। हवा एक किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से चली।


48 घंटे तक का वक्त लगेगा
मौसम विज्ञान केन्द्र में वैज्ञानिक सहायक देवेन्द्र कुमार तिवारी के अनुसार पूर्वी मध्यप्रदेश पर बना कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर शिफ्ट हो गया है। राजस्थान से मध्यप्रदेश होकर बंगाल की खाड़ी तक एक द्रोणिका गुजर रही है। दक्षिण मप्र के ऊपर चक्रवाती हवा का घेरा बना हुआ है। इसके प्रभाव से सम्भाग में अनेक स्थानों पर वर्षा या गरज-चमक के साथ बौछार का अनुमान है। सम्भाग के लगभग सभी भाग में मानसून प्रवेश कर गया है। अगले चौबीस घंटे में पूर्वी मध्यप्रदेश के कुछ और हिस्सों में मानसून के आगे बढऩे की पूरी सम्भावना है। उमरिया या नरसिंहपुर के रास्ते शहर में भी मंगलवार तक मानसून के प्रवेश का अनुमान है।


Powered by Blogger.