MP LIVE : पंचतत्व में विलीन हुआ रीवा का लाल, राजकीय सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार


रीवा के वीर जवान शहीद दीपक सिंह का किया गया राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार अमर शहीद की अमर गाथा रीवा की माटी का लाल वीर सपूत दीपक सिंह जो भारत माता की रक्षा के लिये अपने प्राण न्योछावर कर दिये उनकी शहादत से आज विंध्य की भूमि गौरवान्वित है, वीर शहीद जवान दीपक सिंह का पार्थिव शरीर राजकीय सम्मान के साथ उनके गृह ग्राम पहुंचा.

शहीद जवान दीपक सिंह के पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन कर श्रद्वांजलि अर्पित करने रीवा पहुचे म.प्र.के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी वा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वी.डी.शर्मा, रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल पहुचे रीवा हवाई पट्टी मे भेंट कर दीपक सिंह के गृह ग्राम मनगवा फ़रेदा के लिये प्रस्थान करेगे साथ मे भाजपा जिला अध्यक्ष डा.अजय सिंह,भाजपा युवा राष्ट्रीय मंत्री गौरव तिवारी, रावेन्द्र मिश्रा ,संजय द्विवेदी सहित कई अन्य लोग उपस्थित रहें।





जहा प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शहीद के ग्राम फरेंदा पहुंचकर अमर शहीद जवान दीपक सिंह को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी और सलाम किया, इसके बाद सीएम अंतिम संस्कार में शामिल होने शहीद जवान को कंधा देकर आखिरी विदाई दी, ऐसे वक्त पर शहीद के घर उनके अंतिम दर्शन के लिये उपस्थित हजारो की जनता सबकी आंखे नम थी, पूरा माहौल गमगीन रहा, वीर सपूत की अंतिम विदाई कर राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया रीवा के वीर शहीद जवान दीपक सिंह की शहादत को नमन व सलाम करते हुए उन्हे सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।

विंध्य के अमर शहीद दीपक सिंह के अंतिम दर्शन को उमड़ा जनसैलाब सभी ने  नम आंखों से  वीर सपूत को  दी अंतिम विदाई। शहीद जवान दीपक सिंह के पैतृक गांव घर जाकर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित  कई जानी-मानी हस्तियां  प्रशासनिक अधिकारियों समाजसेवियों  पुलिस अधिकारियों सेना के जवानों एवं कर्मचारियों व हजारों की संख्या में महिला पुरुष बड़े बुजुर्ग और बच्चों ने पार्थिव शरीर को दी श्रद्धांजलि साथ ही अपने रीवा के लाल की अंतिम यात्रा मे मौजूद रहे। वीर सपूत की जन्म भूमि फरेंदा पहुचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अलावा अन्य राजनेताओं  सहित  पुलिस अधिकारियों ने अमर शहीद की अर्थी को कंधा देकर नम आँखों से दी अंतिम विदाई।

रीवा अमर शहीद जवान दीपक सिंह के घर पहुँच कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनके परिजनों से भेट कर ढाढ़स बँधाया ऐसे अमर शहीद पर गर्व है। मैं उस मां और पिता को प्रणाम करता हूं, जिन्होंने उन्हें जन्म दिया।





Powered by Blogger.