REWA : 15 जुलाई से SCHOOL खोलने की तैयारी शुरू ,जानिए कब से लगेंगी CLASSES : नई गाइडलाइन जारी


नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस तेजी से फैलने के बाद सरकार ने के खौफ के चलते सारे स्कूल  को बंद करवा दिए थे। जैसे- जैसे लॉकडाउन  खत्म होगा वैसे ही स्कूल खुलने की बात सामने आ रही है। ऐसे में स्कूल भेजने को लेकर अभिभावक असमंजस की स्थिति में हैं।

लॉकडाउन में सरकार द्वारा दी जारी ढिलाई को देखते हुए माना जा रहा है कि स्कूल 15 जुलाई को खुल सकते हैं। हालांकि, बाल आयोग जुलाई की बजाए सितंबर से स्कूल खोले जाने के पक्ष में है और उसी वक्त के हिसाब से इस गाइड लाइन को तैयार किया गया है। स्कूल खुलने पर विद्यार्थियों को संक्रमण से बचाने के लिए क्या-क्या सावधानियां बरतनी होंगी इसे लेकर बाल आयोग ने विशेषज्ञों के साथ मिलकर एक स्टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर तय की है और इस गाइड लाइन को शिक्षा विभाग को भेजा है। आयोग ने 150 बिंदुओं पर गाइड लाइन को तैयार की है। इसमें स्कूल बस, टीचर, स्कूल प्रबंधन और पैरेंट्स के लिए दिशा निर्देश है।

बता दें कि यह गाइडलाइन बाल आयोग ने विशेषज्ञों के साथ मिलकर तय की है। अभी केंद्र सरकार की ओर से गाइडलाइन आने का इंतेजार है।

यह है गाइड लाइन के प्रमुख बिंदु

यदि स्टूडेंट बस से स्कूल जाता है तो 55 सीटर बसों में 20 से 25 बच्चे होंगे, वही छोटी बसों में 2 गज की दूरी को ध्यान में रखते हुए छात्रों को बैठाना होगा, मुख्य रूप से दो गज की दूरी का ध्यान रखना जरुरी होगा।

बच्चों को डब्ल्यूएचओ की ओर से निर्धारित स्टैंडर्ड कंटेंट के सेनेटाइजर से सेनेटाइज्ड बस में ही बैठाया जाएगा। इसके अलावा बसों को स्कूल के अलग-अलग गेट से प्रवेश कराया जाए, जिससे बच्चों की भीड़ जमा ना हो।

स्कूल को भी पूरी तरह हर दिन सेनेटाइज करना आवश्यक होगा।

कक्षाओं में लगे फर्नीचर छह फीट की दूरी पर लगे हों एवं पूर्णत: सेनेटाइज हों। दरवाजे, खिड़की, गेट के हैंडल और मेटल के सामान अच्छे से धोए जाएं।

स्कूल में पीने और हाथ धोने के पानी की पर्याप्त व्यवस्था हो और हर पीरियड के बाद बच्चों के हाथ धुलवाए जाएं।

संक्रमण के खतरे को देखते हुए स्कूल में यूनिफार्म को अनिवार्य न रखा जाए, जिससे बच्चा हर दिन साफ नए कपड़ों में स्कूल पहुंच पाए।

पालकों से बच्चे के स्वास्थ्य प्रमाण पत्र की जानकारी का प्रमाण पत्र लिया जाए, हल्का सा सर्दी-जुकाम होने पर भी उसे स्कूल ना भेजने के लिए कहा गया है।

इसके साथ ही पालकों के लिए निर्देश है कि वे कोविड-19 सुरक्षा संबंधी सभी मानकों का पालन करते हुए ही बच्चे को स्कूल भेजें।

होंगे ये बदलाव

एक बार में 33-50ऽ छात्र आ सकेंगे।
स्कूलों को ऑनलाइन पर फोकस करना होगा।
छात्रों की संख्या के मुताबिक, टॉयलेट, पीने के पानी की व्यवस्था, हाथ धोने की सुविधा को बढ़ाना होगा। 
स्कूल हफ्ते में 2-3 दिन खुलेंगे।


REWA NEWS MEDIA के सोशल साइट्स पर जुड़े और
पढ़े ताजा ख़बरें, अभी Like करें और हमसे जुड़ें

FACEBOOK PAGE , TWITTER , INSTAGRAM , FACEBOOK
रीवा, सिरमौर ,सेमरिया ,मनगवा, देवतलाब, मऊगंज ,गुढ व त्यौथर क्षेत्र की हर खबर सिर्फ रीवा न्यूज़ मीडिया पर : VISIT NOW : www.Rewanewsmedia.com

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ जुड़े हमसे  

Powered by Blogger.