REWA : शिवराज की किरकिरी ? BJP विधायक ने मज़दूरों के लिए सोनू सूद से मदद मांगी, फिर जमकर बवाल हुआ


ऋतुराज द्विवेदी,रीवा. प्रवासियों को वापस लाने का दावा करने वाली शिवराज सरकार की पोल उनके ही पार्टी के सीनियर लीडर और रीवा से विधायक राजेन्द्र शुक्ल ने खोल दी है। राजेन्द्र शुक्ल ने कहा- सोनू सूद को एक लिस्ट भेजकर कहा है ये रीवा/सतना मध्यप्रदेश निवासी काफी दिनों से मुम्बई में फंसे हुए हैं और अभी तक वापस नहीं पहुंच पाए हैं।

एक्टर सोनू सूद. मुंबई में फंसे प्रवासी मज़दूरों की जी-जान लगाकर मदद कर रहे हैं. बसों-हवाई जहाजों से उन्हें उनके घर पहुंचा रहे हैं. सोनू के काम का इफेक्ट ऐसा हुआ कि राजनेता भी उनसे मदद मांगने लगे हैं. मध्य प्रदेश के रीवा से एख्घ् विधायक हैं राजेंद्र शुक्ल. उन्होंने भी ट्वीट कर सोनू से हेल्प मांगी.

कृपया इनको वापस लाने मे हमारी मदद् करें। सोनू सोदू ने विधायक राजेंद्र शुक्ला को जवाब देते हुए लिखा कि सर, अब कोई भाई कहीं नहीं फंसेगा। आपके प्रवासी भाई कल आपके पास भेज देंगे सर। कभी एमपी आया तो पोहा जरूर खिलाना। सवाल ये है कि क्या सरकार अपने ही विधायक के क्षेत्र के लोगों को वापस लाने में अक्षम है। या फिर इनकी सरकार में सुनी नहीं जा रही है। राजेंद्र शुक्ल, शिवराज सिंह चौहान के करीबी नेताओं में शामिल हैं। शिवराज कैबिनेट विस्तार में वो मंत्री पद के दावेदार भी हैं।




1 जून को विधायक जी ने एक लंबी-चौड़ी लिस्ट पोस्ट की. सोनू को बताया कि ये लिस्ट रीवा और सतना में रहने वाले ऐसे लोगों की है, जो इस वक्त मुंबई में फंसे हुए हैं. लिखा,

‘सोनू सूद जी ये रीवा/सतना मध्य प्रदेश निवासी काफी दिनों से मुम्बई में फंसे हुए हैं और अभी तक वापस नहीं पहुंच पाए हैं. कृपया इनको वापस लाने मे हमारी मदद करें.’
इस पर सोनू ने जवाब भी दिया. लिखा,
‘सर, अब कोई भाई कहीं नहीं फंसेगा. आपके प्रवासी भाई कल आपके पास भेज देंगे सर. कभी MP आया तो पोहा ज़रूर खिलाना.’

इस ट्वीट के बाद राजेंद्र शुक्ल ने लिखा,
‘धन्यवाद सोन सूद जी. विंध्य की पावन भूमि में आपका हमेशा स्वागत है. मुंबई में अभी बचे हुए 168 में से करीब 55 लोगों को भिजवा दिया गया है, करीब 113 लोग बचे हुए हैं जिन्हें सकुशलता से भिजवाने के लिए मैं आपको अग्रिम धन्यवाद व भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं.’
धन्यवाद @SonuSood जी, विन्ध्य की पावन भूमि में आपका हमेशा स्वागत है। मुम्बई में अभी बचे हुए 168 में से करीब 55 लोगों को भिजवा दिया गया है, करीब 113 लोग बचे हुए हैं जिन्हें सकुशलता से भिजवाने के लिए मैं आपको अग्रिम धन्यवाद व भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूँ 🙏


ये तो थी इन सोनू और राजेंद्र के बीच हुई बातचीत. अब इसे लेकर बवाल भी शुरू हो गया है. मध्य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रेसिडेंट, पूर्व लोक सभा सांसद अरुण यादव ने ट्वीट किया. लिखा,
‘MP की कड़वी सच्चाई को उजागर करता राजेंद्र शुक्ल जी का ये ट्वीट. शिवराज जी देख लीजिए पूर्व मंत्री एवं वर्तमान रीवा से भाजपा विधायक को आपकी सरकार पर भरोसा नहीं रहा, तो उन्हें मुंबई में फंसे प्रवासी मज़दूरों के लिए मज़बूरी में एक्टर सोनू सूद से मदद लेनी पड़ रही है. #शर्मराज.’
मप्र की कड़वी सच्चाई को उजागर करता @rshuklabjp जी का यह ट्वीट ।
शिवराज जी देख लीजिए पूर्व मंत्री एवं वर्तमान रीवा से भाजपा विधायक को आपकी सरकार पर भरोसा नहीं रहा तो उन्हें मुंबई में फंसे प्रवासी मज़दूरों के लिए मज़बूरी में एक्टर @SonuSood से मदद लेना पड़ रही है ।


View image on Twitter


फिर बीजेपी विधायक ने भी जवाब दिया
कांग्रेस को आक्रामक होता देख राजेंद्र शुक्ल ने ट्विटर पर उनकी सरकार का गुणगान करना शुरू कर दिया. दो ट्वीट किए और बताया कि प्रवासियों के लिए सरकार ने कितना काम किया है. लिखा,
‘मेरे अकर्मण्य काग्रेसी मित्रों, रीवा मे पिछले तीन हफ्तों में 45 श्रमिक ट्रेन, 42 हज़ार से ज्यादा लोगों को वापस ला चुकी हैं. इसके अलावा 1500 बसों से 75 हज़ार विन्ध्य वासियों को देश व प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से लाया गया है. ये केंद्र व प्रदेश सरकार के सहयोग एवं समन्वय से ही संभव हुआ है. कोरोना में घरों में छिपे कांग्रेसियों को पता ही नहीं कि लाखों विन्ध्यवासी केन्द्र/प्रदेश सरकार के सहयोग से वापस आ चुके हैं. विगत 2 माह मे देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए लोगों तक बीजेपी संगठन, समाजसेवी व निजी संबंधों से लगातार राशन, चिकित्सा, आर्थिक सहायता का इंतजाम किया गया है.’
करोना में घरों में छुपे कांग्रेसियों को पता ही नहीं कि लाखों विन्ध्यवासी केन्द्र/प्रदेश सरकार के सहयोग से वापस आ चुके हैं।
विगत 2 माह मे देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए लोगों तक @BJP4India संगठन,समाजसेवी व निजी संबंधों से लगातार राशन,चिकित्सा,आर्थिक सहायता,का इंतजाम किया गया।




राजेंद्र शुक्ल का कांग्रेस नेता को जवाब.

कांग्रेस नेता अलका लाम्बा ने भी बीजेपी पर हमला बोला उन्होंने ट्वीट किया - आँखों पर यक़ीन नहीं होता कि जो खुद विधायक और पूर्व में मंत्री भी रहा, मध्यप्रदेश और देश में इन्हीं की सरकार है, सीएम और पीएम इन्हीं की पार्टी के हैं, महाराष्ट्र में भी इनके सांसद और विधायक हैं, फिर भी मदद सोनू सूद से माँग रहे हैं. थोड़ी भी शर्म हो तो इस्तीफ़ा देकर घर बैठ जाओ, बेहतर होगा.
राजेंद्र शुक्ला मध्य प्रदेश कैबिनेट विस्तार में मंत्री पद के दावेदार माने जा रहे हैं. मगर उनका ट्वीट बताता है कि उनकी सरकार अपने राज्य के मज़दूरों को वापस लाने में नाकाम साबित हुई है. कांग्रेस आरोप लगा रही है कि सरकार उपचुनावों की तैयारी में जुटी हुई है जिसकी दिलचस्पी कोरोना से लड़ने और मज़दूरों को वापस लाने में नहीं है.
Powered by Blogger.