REWA : अवैध वसूली के लिए चर्चित रीवा RTO आरक्षकों के बचाव में आया आगे : अब उल्टा मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी


रीवा। एमपी-यूपी सीमा के हनुमना बार्डर पर आरटीओ को आरक्षकों द्वारा चेकपोस्ट पर कथिततौर पर की गई गुंडागर्दी के बचाव में अब विभाग आ गया है। आरटीओ अधिकारियों ने अब थाने में एफआइआर दर्ज कराने की तैयारी की है। इनका तर्क है कि चेकपोस्ट में कोई वारदात नहीं हुई है। वहां पर कुछ लोग आए थे और काउंटर में तोडफ़ोड़ करने के साथ ही रुपए निकालने का प्रयास कर रहे थे। चेकपोस्ट पर दो लोगों को गंभीर रूप से जख्मी करने के विवाद में लगातार आरटीओ के अधिकारी घिरते जा रहे हैं। 

हनुमना थाने में आरटीओ के प्रधान आरक्षक राजेन्द्र द्विवेदी, आरक्षक कर्मवीर सिंह, रवीन्द्र चतुर्वेदी के विरुद्ध भादवि की धारा ३२३, २९४, ५०६, ३४ के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसके पहले भी आरटीओ के चेकपोस्ट पर वाहन चालकों के साथ इस तरह की गुंदागर्दी सामने आती रही है। पुलिस द्वारा किसी तरह से कार्रवाई नहीं किए जान की वजह से मनमानी लगातार जारी है। अवैध रूप से वसूली के लिए रीवा जिले के आरटीओ के चेकपोस्ट चर्चित हैं, इनके विरुद्ध कई शिकायतें शासन स्तर पर भी की गई हैं लेकिन कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जा रही है। कहा जा रहा है कि थाने के पुलिसकर्मियों का भी आरटीओ के चेकपोस्ट में तैनात कर्मचारियों को संरक्षण रहता है, इस कारण आए दिन मारमीट किए जाने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है।

नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष को आई हैं गंभीर चोटें
आरटीओ बैरियर के आरक्षकों द्वारा मारपीट किए जाने से नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष संगमलाल सोनी को गंभीर चोंटे आई हैं। जिन्हें उपचार के लिए रीवा लाया गया है। शहर में कई जगह फ्रेक्चर बताया जा रहा है। घटना के बारे में बताया गया है कि इनके साथ मौजूद एक अन्य युवक सरोज गुप्ता को चेकपोस्ट के आरटीओ आरक्षक का फोन आया था। किसी आवश्यक कार्य का हवाला देकर बुलाया गया था। पहले सामान्य तौर पर ही बातचीत की बाद में कहासुनी हुई और झूमाझटकी भी होने लगी। इसके बाद मामला शांत हो गया और दोनो वापस जाने लगे तो रास्ते में रोककर फिर पीटा गया।

भाड़े के गुंडों का नहीं होता सत्यापन

आरटीओ द्वारा चेकपोस्ट पर भाड़े के गुंडे रखे गए हैं। आरटीओ आरक्षकों के इशारे पर ये आए दिन लोगों के साथ मारपीट एवं अभद्रता करते हैं। हनुमना चेकपोस्ट पर ही बीते तीन महीने के अंतराल में कई घटनाएं हो चुकी हैं। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक कार्य के लिए जाने वालों के साथ भी अवैध रूप से वसूली करने का मामला सामने आया था। जबकि लोग अपने निजी वाहन से जा रहे थे। कई बार शिकायतें किए जाने के बाद भी भाड़े के इन गुंडों का पुलिस द्वारा सत्यापन नहीं किया जा रहा है। कई बार ये मारपीट करते हुए लोगों से मनमानी शुल्क के नाम पर रुपए भी वसूलते हैं।

चेकपोस्ट में झूमाझटकी की जानकारी सामने आई है। जिन लोगों ने रिपोर्ट की है, उनकी ओर से ही काउंटर में रुपए निकालने का प्रयास किया जा रहा था। इसके सीसीटीवी फुटेज में तथ्य हैं। इस कारण हम थाने पहुंचकर उनके विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराएंगे। संबंधित लोगों को चोट कहां लगी इसकी जानकारी हमें नहीं है। 

रवि मिश्रा, निरीक्षक आरटीओ चेकपोस्ट




Powered by Blogger.