REWA : रीवा ने कोरोना मुक्त बनने की तरफ बढ़ाया एक और कदम : तीन रोगी हुए स्वस्थ


रीवा जिले ने कोरोना संक्रमण से पूरी तरह से मुक्त होने की तरफ आज एक और कदम बढ़ाया। शासकीय आयुर्वेद अस्पताल के कोविड सेंटर में भर्ती तीन कोरोना संक्रमित रोगी पूरी तरह से स्वस्थ होकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध करायी गई एंबुलेंस से घर रवाना हुए। कलेक्टर बसंत कुर्रे तथा पुलिस अधीक्षक आबिद खान ने इन तीनों कोरोना विजेता स्वस्थ रोगियों का पुष्पवर्षा एवं करतल ध्वनि से स्वागत किया। अब रीवा जिले में केवल चार कोरोना संक्रमित व्यक्ति उपचार करा रहे हैं। इनके भी निर्धारित समयावधि पूरी होने पर स्वस्थ होने की पूरी उम्मीद है।

इस अवसर पर कलेक्टर श्री कुर्रे ने कोरोना विजेताओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कोरोना से मुक्त होने के बाद भी इससे बचाव की पूरी सावधानी रखें। घर से बाहर निकलते समय मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें। सार्वजनिक स्थलों में फिजिकल दूरी एवं कोरोना से बचाव के निर्देशों का पालन करें। आप लोगों को जो दवाएं तथा टानिक दिया गया है उसका निर्देशों के अनुसार नियमित रूप से सेवन करें। त्रिकुट काढ़ा का नियमित सेवन करें। साथ ही नियमित योगाभ्यास करें। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होगी। कोरोना से भयभीत न हों। सावधानी रखकर इससे पूरी तरह से बचाव संभव है।

इस अवसर पर जानकारी देते हुए कलेक्टर ने बताया कि रीवा जिले में कुल 35 कोरोना संक्रमित व्यक्ति थे। इनमें अब केवल चार व्यक्ति उपचार करा रहे हैं। शेष सभी पूरी तरह से स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। जिन क्षेत्रों में समय-सीमा पूरी हो रही है उसे कंटेनमेंट एरिया से मुक्त एरिया घोषित किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग तथा आयुर्वेद विभाग के डॉक्टरों, नर्सों एवं अन्य चिकित्सा कर्मियों ने कोरोना से लड़ी जा रही लड़ाई में विजेता बनाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण रोल निभाया है।

कोरोना से मुक्त हुए रोगियों ने अपने अनुभव बताते हुए कहा कि अस्पताल में उपचार तथा भोजन की बेहतर सुविधाएं दी गईं। नियमित देखभाल तथा त्रिकुट काढ़ा के सेवन से कोरोना से बहुत जल्दी आराम मिल गया। सभी स्वस्थ हुए रोगियों ने डॉक्टरों एवं उपचार में तैनात कर्मचारियों के प्रति आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर आयुर्वेद कालेज के डीन डॉ. दीपक कुलश्रेष्ठ, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरएस पाण्डेय, डॉ. सुनील अग्निहोत्री, तथा आयुर्वेद हास्पिटल के चिकित्सक उपस्थित रहे।


Powered by Blogger.