REWA : व्यक्ति के संपर्क में आए बिना अब हो सकेगी कोरोना की जांच : कमिश्नर राजेश कुमार जैन


रीवा. कोरोना वायरस का संक्रमण जिस तेजी से बढ़ रहा है, उससे उतना ही सचेत रहने की जरूरत है। ऐसे में दिन रात एक कर जान जोखिम में डाल कर संक्रिमतों की सेवा में लगे स्वास्थ्यकर्मियों की सेहत का खास खयाल रखना ज्यादा जरूरी हो गया है। इसी सोच के साथ कमिश्नर राजेश कुमार जैन ने जिले के स्वास्थ्य कर्मियों के लिए ऐसा वाहन दिया है जिसमें बैठे-बैठे वो किसी की जांच कर सकेंगे और संबंधित के संपर्क में भी नहीं आएंगे।

इस वाहन के अंदर बैठकर डॉक्टर संदिग्ध कोरोना संक्रमित रोगी के सीधे संपर्क में आए बगैर न केवल उसका तापमान ले सकेंगे बल्कि अन्य जानकारियां भी हासिल कर सकेंगे। बता दें कि इस विधि में रोगी की जांच मोबाइल ऐप के माध्यम से होती है। वाहन के सामने रोगी को खड़ा करके इसमें लगे उपकरणों के माध्यम से दूर से ही रोगी की प्राथमिक जांच की जाती है। इस वाहन के उपयोग से डॉक्टर तथा अन्य चिकित्साकर्मी पूरी तरह से सुरक्षित रहकर रोगियों की जांच करते हैं।

संजीवनी वाहन

इस वाहन का नाम संजीवनी वाहन है। वैसे अब तक इसे एंबुलेंस 108 के नाम से भी जाना जाता रहा है। लेकिन नई तकनीक से जोड़ कर इसे कोरोना संक्रमण में लाया जाने लगा है।

इस मौके पर डीआईजी अनिल सिंह कुशवाह, कलेक्टर इलैयाराजा टी, एसपी राकेश सिंह, जिला पंचायत के सीईओ स्वप्निल वानखेड़े, मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. एपीएस गहरवार, सीएमएचओ डॉ. आरएस पांडेय तथा अन्य चिकित्स उपस्थित रहे।


Powered by Blogger.