REWA : राजेन्द्र शुक्ला को रीवा से मंत्री पद न मिलने पर समर्थकों में जमकर फूटा गुस्सा : पृथक विंध्य क्षेत्र की मांग


रीवा. जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक सांसद जनार्दन मिश्र की अध्यक्षता में आयोजित की गई। निर्धारित आठ मुख्य एजेंडे पर चर्चा की गई। इस दौरान सांसद जनार्दन मिश्र ने कोरोना प्रोटोकाल की चर्चा की। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में शहरी क्षेत्र में आवास की प्रगति ठीक नहीं है। सांसद ने मऊगंज में १५० हितग्राहियों के आवास की चर्चा करते हुए अधिकारियों को प्रगति बढ़ाने का निर्देश दिए।

संतुलित पोषण आहार वितरित करें 
सांसद ने कहा कि 2639 अति कम वजन के बच्चे हैं। कुपोषण दूर करने संतुलित पोषण आहार वितरित करें। एनआरसी में बेड खाली नहीं होना चाहिए। गर्भवती महिला को अंतिम तीन महीनों के दौरान आंगनवाड़ी कार्यकर्ता घर जाकर आयरन एवं कैल्शियम की गोली अपने सामने खिलाए। कलेक्टर इलैयाराजा टी ने कुपोषण पर चर्चा की। त्योंथर विधायक श्यामलाल द्विवेदी ने त्योंथर में १०० बेड के अस्पताल निर्माण चर्चा की। रीवा विधायक प्रतिनिधि राजेश पांडेय ने कहा नगर पंचायतों में बीएलसी घटक के हितग्राही मूलक कार्य की परफारमेंस ५० फीसदी भी नहीं है।

प्रतिनिधियों के पत्र की जानकारी तक नहीं हो पाती 
मनगवां विधायक पंचूलाल प्रजापति ने कहा, प्रतिनिधियों के पत्र पर कार्रवाई की जानकारी तक नहीं हो पाती है। कलेक्टर ने मौजूद प्रतिनिधियों को भरोसा दिलाया कि ऐसा नहीं होगा। बैठक में पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सिंह, नगर निगम आयुक्त मृणाल मीणा, जिपं सीईओ स्वप्निल वानखडें सहित अन्य ब्लक व नगर पंचायतों के ्र्रप्रतिनिधि मौजूद रहे। 

अधिकारी जतना में विश्वास पैदा करें 
बैठक में राज्य सभा सांसद सदस्य राजमणि पटेल भी पहुंचे। उन्होंने कहा कि सामाजिक न्याय नहीं उस पर अमल भी होना चाहिए। सांसद सदस्य ने किसानों और गरीबों की जायज शिकायतें को सुनें और जनता में विश्वास पैदा करें। न्याय होना न होना अपनी जगह है। सबसे अहम बात है जनता की शिकायतें सुनें और विश्वास दिलाए। अधिकारी अपने दायित्व और गरीब के अधिकारी को समझे।

बैठक में नहीं आए छह विधायक
जिला निगरानी समिति की बैठक में जिले के छह विधायक नहीं पहुंचे। बैठक निर्धारित समय सुबह ११ बजे शुरू हो गई। बैठक में दोपहर एक बजे तक बैठक में रीवा, मऊगंज, देवतालाब, सिरमौर, गुढ़, सेमरिया के विधायक नहीं पहुंचे।
Powered by Blogger.