SATNA के एक और CORONA मरीज की मौत ,मैहर के किराना कारोबारी ने रीवा में तोड़ा दम


सतना । सतना के लिए बुधवार का दिन एक और बुरी खबर लेकर आया। मैहर के किराना व्यापारी ने भी कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया। सतना जिले में कोरोना से हुई यह चौथी मौत है। इसके पहले खम्हरिया, कुशियरा के दो पुरुषों की रीवा में और एक महिला की जबलपुर के मेट्रो अस्पताल में मौत हो चुकी है।
हासिल जानकारी के मुताबिक मैहर की पुरानी बस्ती के हुसैन चौक में किराना दुकान चलाने वाले अग्रवाल परिवार के 58 वर्षीय पुरुष की बुधवार को रीवा मेडिकल कालेज में मौत हो गई । वह और उसकी पत्नी को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद आइसोलेट किया गया था। सतना से उन्हें रीवा मेडिकल कालेज रेफर किया गया था। जहां आज अग्रवाल की मौत हो गई। मृतक का अंतिम संस्कार रीवा में ही COVID-19 प्रोटोकॉल के तहत किया जाएगा।

नही ले रहे थे दवाएं , रिस्पायरेट्री फेलियर से मौत 
बताया गया कि अग्रवाल दम्पति को 8 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। उन्हें सतना लाया गया था और  9 जुलाई पीएम आवास आइसोलेशन सेंटर से ट्रामा यूनिट में रखा गया था। दोनो हाइपर टेंसिव डायबिटिक थे लेकिन यहां दवाएं नही ले रहे थे। इस बीच 11 जुलाई को अग्रवाल की हालत बिगड़ी और सांस लेने में तकलीफ  हुई और ऑक्सीजन कंस्ट्रेशन कम हुआ तो रीवा मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया। चिकित्सको के अनुसार रिस्पायरेट्री फेलियर से अग्रवाल की मौत हुई है। हालांकि अभी डॉक्टर्स की टीम ऑडिट करेगी।

उमरिया के बकेली में भी संक्रमित हुए थे संपर्क में आये 15 लोग
मैहर की पुरानी बस्ती के हुसैन चौक में रहने वाले अग्रवाल और उनकी पत्नी गत 30 जून को उमरिया के मानपुर थानान्तर्गत बकेली में एक शादी में शामिल होने गए थे। यह शादी बरही में हुई थी लिहाजा कन्या पक्ष के लोग बकेली से बरही आये थे। अग्रवाल दम्पति भी कन्या पक्ष के ही थे। अग्रवाल दम्पति के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद बकेली में रहने वाले इनके परिवार के अन्य सदस्यों तथा संपर्क में आये लोगों को उमरिया जिला प्रशासन ने जांच कराई तो 15 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। इधर मैहर में भी उनके संपर्क में आये लोगों की तलाश कर उनके सेम्पलों को जांच के लिए भेजा गया था।

मैहर निवासी महिला की जबलपुर में मौत के बाद सतना के चौथे मरीज की मौत 
मैहर के अग्रवाल परिवार के58 वर्षीय पुरुष की मौत सतना जिले में कोरोना से हुई चौथी मौत है। इसके पहले मल्टी ऑर्गन फेलियारिटी का शिकार खम्हरिया निवासी वृद्ध की मौत हो गई थी जबकि कुशियरा निवासी किडनी पेशेंट ने भी रीवा में ही दम तोड़ दिया था। इन दो कोरोना पीड़ितों की मौत के बाद सतना जिले में मरीज तो मिल रहे थे लेकिन कोरोना से मौत का सिलसिला थम गया था। इसके बाद 13 जुलाई को जबलपुर के मेट्रो हॉस्पिटल में मैहर की 58 वर्षीया महिला की मौत हो गई जिसकी कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट 14 जुलाई को उसका अंतिम संस्कार होने के बाद सतना आई। अब 15 जुलाई को मैहर के ही 58 वर्षीय राजकुमार अग्रवाल की मौत हो गई है।

Powered by Blogger.