खुशखबरी : चार लाख से अधिक संविदा शिक्षकों को बड़ा तोहफा, 22 फीसदी अधिक बढ़कर मिलेगी सैलरी



Teachers government salary bihar: पटना। चुनावी वर्ष में बिहार में नीतीश सरकार ने शिक्षकों को बड़ा तोहफा दिया है। यहां सरकार ने संविदा शिक्षकों की सैलरी में 22 फीसदी का इजाफा कर दिया है। गौरतलब राजधानी पटना में मंगलवार को नीतीश सरकार की कैबिनेट बैठक हुई। बैठक में करीब 28 से ज्यादा मुद्दों पर चर्चा हुई। लेकिन सबसे बड़ा मुद्दा नियोजित शिक्षकों की मांगों को लेकर था। यहां सरकार ने शिक्षकों की सैलरी में 22 फीसदी की बढ़ोतरी करते चुनावी वर्ष में बड़ा तोहफा दिया है।

लंबे समय से शिक्षक कर रहे थे मांग
गौरतलब है कि नियोजित शिक्षक लंबे समय से नीतीश सरकार में वेतन में बढ़ोतरी की मांग कर रहे थे। सरकार के इस फैसले से शिक्षकों को बढ़ती महंगाई के दौर में काफी राहत मिली है। सरकार ने नियोजित शिक्षकों की सेवा शर्त नियमावली को भी मंजूरी दे दी है। लंबे अरसे से लंबित पड़े शिक्षकों की अधिकतर मांगों को मान लिया गया है। नीतीश सरकार के इस फैसले से प्रदेश के करीब पौने चार लाख शिक्षकों को सीधा फायदा होगा।

शिक्षक कहीं भी स्वेच्छा से ले सकेंगे ट्रांसफर
इसके अलावा नीतीश सरकार ने शिक्षकों को प्रोन्नति, अपनी इच्छा से ट्रांसफर सहित कई सुविधाओं का लाभ दिया है। शिक्षकों को 22 फीसदी वेतन में बढ़ोतरी का लाभ एक अप्रैल 2021 से दिया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक शिक्षकों की अधिकतम वेतन वृद्धि 15 से 22 फीसदी तक की गई है, इसमें वरिष्ठता के आधार पर फैसला किया जाएगा।

शिक्षकों को ईपीएफ पर भी सौगात
सरकार ने शिक्षकों को मिलने वाले लाभ में ईपीएफ के तौर पर 12 फीसदी हिस्सेदारी देने का फैसला दिया है। इसके अलावा संयुक्त सीमित परीक्षा के माध्यम से प्रमोशन का भी लाभ मिलेगा। साथ ही शिक्षक की मौत के बाद परिवार के किसी सदस्य को अनुकंपा नौकरी देने का भी फैसला किया है।


Powered by Blogger.