सावधान रहे ! मौसम विभाग बड़ा ALERT : रीवा समेत 21 जिलों भारी बारिश की चेतावनी


भोपाल। मध्यप्रदेश के कई जिलों में बीते दिनों तेज बारिश हुई है लेकिन अब एक बार फिर से यहां पर मौसम बदलने लगा है। बात राजधानी भोपाल की करें तो गुरुवार को यहां पर सुबह से ही बादल छाए हुए है। साथ ही ठंडी हवाएं  भी चल रही हैं। प्रदेश के अन्य स्थानों पर कल रात बारिश भी हुई। गुरुवार की सुबह से ही राजधानी में बादल गरजने के साथ तेज हवाएं चल रही हैं। तापमान में भी गिरावट आई है।

मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के मध्यप्रदेश की ओर बढ़ने से प्रदेश के अन्य स्थानों पर बारिश शुरु हो गई है। इस बीच खजराहो में सबसे अधिक 109 मिमी, छतरपुर के नौगांव में 85 मिमी, दमोह में 61 मिमी, सागर में 20. 4 मिमी, टीकमगढ़ में 35 मिमी के अलावा इस अंचल के कुछ और स्थानों पर वर्षा हुयी।



बन रहा है कम दबाव का क्षेत्र

वही अब बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र उड़ीसा के उत्तरी क्षेत्र में पहुंचकर गहरा कम दाब का क्षेत्र बन गया है। इसके उत्तर-पश्चिमी दिशा में बढ़ने के संकेत हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक यह सिस्टम गुरुवार सुबह छत्तीसगढ़ के पास पहुंच चुका है। इस सिस्टम के प्रभाव से गुरुवार से भोपाल सहित मध्य प्रदेश के कई स्थानों पर बरसात का सिलसिला शुरू होने के आसार है।

वहीं बात शहडोल की करें तो यहां पर आसमान में घने काले बादल छाए हुए हैं। गुरुवार की सुबह हल्की बारिश हुई है और बुधवार की रात में भी रुक-रुक कर बारिश होती रही है। बाणसागर बांध का जलस्तर 341.07 मीटर गुरुवार की सुबह 8बजे रिकॉर्ड किया गया है। वहीं जिले की बारिश तकरीबन 760 मिलीमीटर औसत दर्ज की गई है। गुरुवार को जिले में झमाझम बारिश के आसार बन रहे हैं।

इन जगहों में जारी किया गया रेड अलर्ट 

मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटों के लिए बालाघाट, सागर संभाग, टीकमगढ़ और दमोह जिलों में अत्यधिक बारिश और गरज-चमक के साथ बिजली गिरने की संभावना जताई है। वहीं रीवा, शहडोल संभागों में, कटनी, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, जबलपुर, सिवनी, मंडला, छतरपुर, पन्ना, विदिशा, रायसेन, होशंगाबाद, एवं बैतूल जिलों में भी तेज बारिश के साथ बिजली गिरने का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। राजगढ़, शाजापुर और गुना और अशोकनगर में भी बारिश बारिश की चेतावनी दी गई है।


Powered by Blogger.