MP : कांग्रेस को राहुल ही निपटा देंगे, भाजपा की जरूरत नहीं : शिवराज सिंह

ग्वालियर। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर नियुक्ति को लेकर पार्टी में घमासान के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तंज करते हुए कहा, 'जिस पार्टी में राहुल बाबा जैसा नेता है उसके सफाए के लिए, भाजपा की जरूरत ही नहीं हैं, राहुल जैसे नेता ही पार्टी को निपटा देंगे।' ग्वालियर में मीडिया से संक्षिप्त चर्चा में भी शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस तबाही का कगार पर है।
सिंधिया ने सड़क पर उतार दिया
भिंड, मुरैना, श्योपुर के कार्यकर्ताओं को भाजपा की सदस्यता दिलाने के अभियान के लिए एनएलआइपीई सभागार और ग्वालियर मेला के कन्वेंशन सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान ने सिंधिया के साहस को सलाम करते हुए कहा, 'कमल नाथ सरकार भ्रष्टाचार में डूबती जा रही थी। जनता से किए वादे भूल चुकी थी। विकास कार्यों को पैसा देना बंद कर दिया। विधायकों, मंत्रियों, खासतौर पर ग्वालियर-चंबल के उन नेताओं, जिनके बल पर प्रदेश में सरकार बनी, उनसे मिलना बंद कर दिया। जब सिंधिया ने कमल नाथ से कहा कि वादे निभाओ, वचन पूरे करे, भ्रष्टाचार समाप्त करो तो उनसे कहने लगे कि जाओ नहीं करना, क्या कर लोगे। सिंधिया ने कहा कि जनता के लिए सड़क पर उतरूंगा तो कमल नाथ ने ऐंठ दिखाई और कहा, उतर जाएं। जब मान सम्मान तो ठेस पहुंची तो सिंधिया ने उन्हें ही सड़क पर उतार दिया।
मान-सम्मान को ठेस नहीं पहुंचने दूंगा : सिंधिया
राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया के कमल नाथ और दिग्विजय सिंह पर तीखे हमले सोमवार को भी जारी रहे। उन्होंने कहा, 'कमल नाथ ने प्रदेश को अंधेरे की ओर ले जाना शुरू किया था। शराब माफिया, भू-माफिया, दलाल और भ्रष्टाचार हावी हो गया था। जनता से किए वादे भूल चुके थे। तब दिशा और दशा बदलना पड़ी, क्योंकि उनका परिवार जनसेवा के लिए राजनीति में हैं। वे कार्यकर्ता के मान-सम्मान को ठेस नहीं पहुंचने देंगे। कमल नाथ मुख्यमंत्री रहते समय ग्वालियर-चंबल में नहीं आए। वे पैसों का ही रोना रोते रहे, उद्योगपतियों को ही वल्लभ भवन बुलाते रहे।
दिग्विजय सिंह के समय प्रदेश बर्बादी की ओर था : तोमर
केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि भाजपा पूरी दुनिया का सबसे बड़ा और अनुशासित संगठन है। भाजपा हमेशा विकास की राजनीति करती है। ग्वालियर अंचल में केन्द्र सरकार ने अटल एक्सप्रेस वे, नल जल योजना सहित अन्य कई योजनाओं को स्वीकृति दी है। दिग्विजय सरकार ने प्रदेश को अंधकारमय कर दिया था। प्रदेश बर्बादी की ओर था, लेकिन जनता ने साथ दिया तो 15 साल भाजपा की सरकार रही। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश को विकास के रास्ते पर ला खड़ा किया। लेकिन डेढ़ साल फिर जनता को परेशानी झेलना पड़ी। अब सिंधिया के निर्णय से प्रदेश फिर विकास के पथ पर अग्रसर रहेगा।


Powered by Blogger.